@. सुलगते सवाल… ★. पूर्व मंत्री उमा भारती के “देव गुरु” बृहस्पति धाम में प्रवेश पर उठ रहे सवाल ★. “देव गुरु” में महिलाओं के प्रवेश पर है रोक रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

142

@. सुलगते सवाल…

★. पूर्व मंत्री उमा भारती के “देव गुरु” बृहस्पति धाम में प्रवेश पर उठ रहे सवाल

★. “देव गुरु” में महिलाओं के प्रवेश पर है रोक

रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

ओखलकांडा भीमताल
पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती के ओखलकांडा स्थित देवगुरु बृहस्पति धाम में पूजा-अर्चना करने को लेकर स्थानीय लोगों ने सवाल खड़े किए हैं बृहस्पति धाम में महिलाओं के प्रवेश पर कालखंड से रोक होने है। स्थानीय लोगों ने पूर्व मंत्री के मंदिर में पूजा-अर्चना करने को मंदिर की मान्यता के विपरीत भी माना है। समाजसेवी वह पूर्व प्रधान मदन नौलिया ने कहा कि देवगुरु बृहस्पति धाम में कालखंड से

★. धाम में महिलाओं के प्रवेश पर है रोक
महिलाओं का प्रवेश पूरी तरह से बंद है। पूर्व प्रधान व समाजसेवी मदन सिंह नौलिया ने कहा कि राजनीतिक दल से जुड़े लोगों की ओर से भी उमा भारती को यह बात नहीं बताई गई। यह मंदिर की मर्यादा, आस्था और विश्वास के साथ खिलवाड़ करना जैसा है। उमा भारती के मंदिर में प्रवेश करने संबंधित फोटो सोशल मीडिया में आने से लोगों में गुस्सा है। स्थानीय लोगों ने मंदिर की परंपराओं को बनाए रखने की अपील की है ।

आपको बता दें कि:
पूर्व केंद्रीय मंत्री और मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने ओखलकांडा ब्लॉक के बृहस्पति देवगुरु धाम मंदिर में पहुंचकर पूजा अर्चना की थी । उमा भारती डोल आश्रम से शहरफाटक, मोरनोला होते हुए नाई से कोटली पहुंची। वहां से ग्रामीणों के साथ पांच किलोमीटर पैदल यात्रा कर मंदिर पहुंची। मंदिर में पूजा अर्चना के बाद उन्होंने गुफा में रहने वाले स्वामी प्रेमानंद महाराज से मुलाकात की।समाजसेवी उत्तम नयाल ने बताया कि उमा भारती ने आधे घंटे तक अकेले बैठकर ध्यान लगाया था। साथ ही कहा कि ध्यान लगाकर उन्हें आध्यात्मिक शांति मिली है। उन्होंने कहा कि इस धाम को मानसखंड से जोड़ने के लिए वह प्रधानमंत्री को पत्र लिखेंगी। साथ ही दोबारा आने की बात कहीं है।