@. दुखद ★. गहरी खाई में जा गिरी बाइक ओखलकांडा के होमगार्ड की दर्दनाक मौत, ★. ईजा बैणी महोत्सव में ड्यूटी देने के बाद अपने घर लौट रहा था होमगार्ड का जवान … ★. अभी सदमे से नहीं उबरा था गांव फिर दौड़ी शोक की लहर रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

939

@. दुखद

★. गहरी खाई में जा गिरी बाइक ओखलकांडा के होमगार्ड की दर्दनाक मौत,

★. ईजा बैणी महोत्सव में ड्यूटी देने के बाद अपने घर लौट रहा था होमगार्ड का जवान …

★. अभी सदमे से नहीं उबरा था गांव फिर दौड़ी शोक की लहर

रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

ओखलकांडा भीमताल
हल्द्वानी से ड्यूटी कर अपने घर ड़ालकन्या वापस लौट रहे होमगार्ड की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई, गुरुवार की देर शाम होमगार्ड जवान की बाइक अनियंत्रित होकर 200 मीटर गहरी खाई में जा गिरी। बाइक के खाई में गिरने से एक होमगार्ड की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसका साथी होमगार्ड घायल हो गया। घायल को हल्द्वानी एसटीएच में भर्ती कराया है। बताया जा रहा है की हल्द्वानी में गुरुवार को आयोजित ईजा बैणी महोत्सव में ड्यूटी देने के बाद वह अपने घर लौट रहे थे इसी दौरान यह हादसा हो गया। थानाध्यक्ष खनस्यू भुवन सिंह राणा ने बताया कि गुरुवार की देर शाम दीपक पनेरू (35) पुत्र त्रिलोचन पनेरू निवासी डालकन्या खनस्यू और मदन चंद्र बहुगुणा (26) पुत्र उर्बादत्त बहुगुणा निवासी करायल खनस्यू बाइक से हल्द्वानी से वापस अपने घर ओखलकांडा को लौट रहे थे। खनस्यू से पहले बसौतिया पुल के पास बाइक अनियंत्रित होने से गहरी खाई में जा गिरी।स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों की मदद से गहरी खाई में गिरे दीपक पनेरू और सड़क पर गिरे मदन चंद्र बहुगुणा को घायल अवस्था में ओखलकांडा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने दीपक पनेरू को मृत घोषित किया। वहीं मदन को गंभीर चोट के चलते हल्द्वानी एसटीएच में भर्ती कराया है।

थानाध्यक्ष ने बताया कि दोनों होमगार्ड के जवान है। मृतक खनस्यू थाने में तैनात था। घटना की सूचना लगते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक अपने पीछे पत्नी और दो छोटे बच्चों को छोड़ गया है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए हल्द्वानी भेज दिया है। आपको बता दें की बीते 17 नवम्बर को दीपक पनेरू के गांव डालकन्या में मातम छाया था, तब एक सड़क दुर्घटना में 10 लोगों की मौत हो गई थी, लगातार हो रही सड़क दुर्घटनाओं से ग्रामीण सदमे में हैं.