@ उत्तराखंड के युवा पसंद कर रहे लोकगीतों में भी नयापन,…… ★. खुद देखिए जब रमक “साठी” महोत्सव में गूंजा ‘क्रीम पौडरा’…. रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर” रमक चम्पावत….

1128

@ उत्तराखंड के युवा पसंद कर रहे लोकगीतों में भी नयापन,……

★. खुद देखिए जब रमक “साठी” महोत्सव में गूंजा ‘क्रीम पौडरा’….

रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर” रमक चम्पावत….

रमक चम्पावत
संगीत प्रेमियों के बीच जिस तेज़ी से तेज़ बीट्स और डांसिंग धुनों का क्रेज़ बढ़ा है, उसका असर पहाड़ के लोक संगीत पर भी पड़ रहा है. इन दिनों उत्तराखंड में ‘क्रीम पौडरा’ गाना हर किसी की जुबान पर चढ़ा हुआ है. जादू यह है कि जब राकेश खनवाल की आवाज में यह गीत (साठी) रमक के मंच से गूंजा तो दर्शक झूम उठे. देखिए वीडियो.

रमक चम्पावत. आदित्य मन्दिर रमक चम्पावत साठी मेले में इन दिनों साठी महोत्सव की धूम मची हुई है. मेले में पहली बार अपने बीच जिलाधिकारी चम्पावत नवनीत पांडेय पाकर लोग खुश तो दिखे ही थे , की शाम को उत्तराखंड के लोकप्रिय लोक गायक राकेश खनवाल न मेले में चार चांद लगा दिए, साठी महोत्सव में उत्तराखंड के लोक कलाकार प्रस्तुति दे रहे हैं और दर्शकों का भरपूर मनोरंजन कर रहे हैं. इसके अलावा स्थानीय कलाकारों को भी अपना हुनर दिखाने का यहां मंच मिला है. यदि हम कुमाऊंनी गीतों की बात करें, तो आज कुमाऊंनी गीतों में काफी अंतर देखने को मिलता है. आजकल के युवा तेज संगीत और डांस वाले गाने पसंद कर रहे हैं. देखा जाए तो युवा पीढ़ी के म्यूजिक का टेस्ट काफी बदल गया है. वहीं साठी मेले में जब मंच पर राकेश खनवाल ने ‘क्रीम पौडरा’ गाना गाया तो मेले में आए हुए संगीत प्रेमी झूम उठे ।

अपने सुमधुर गीतों से लोगों के दिलों में खास जगह बनाने वाले उत्तराखण्ड संगीत जगत के मशहूर गायक राकेश खनवाल आज किसी परिचय के मोहताज नहीं है। रमक साठी महोत्सव में हिमुली और क्रीम पाउडरा समेत जैसे सुपरहिट गीत गा कर लोगों को नाचते को मजबूर कर दिया दिलो-दिमाग में छा जाने वाले लोक गायक राकेश खनवाल ने बेहद खूबसूरत कुमाऊंनी गीत ‘अलिली बाकरी ले ले’ गाना गा कर मेले में चार चांद लगा दिया ।