@जीआईसी ढोलीगांव में धूमधाम से मनाया गया लोक संस्कृति दिवस …. ★संस्कृति दिवस पर चुड़कानी, भात, टपकी, सिन्ने का साग, मडुवे की रोटी, चटनी जैसे पहाड़ी व्यंजनों का लगा तड़का …. ★कार्यक्रम में स्कूली बच्चों ने बहुत चर्चित गाना “गुलाबी शरारा” पर दी मनमोहक प्रस्तुति…. ★रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”….

395

@जीआईसी ढोलीगांव में धूमधाम से मनाया गया लोक संस्कृति दिवस ….

★संस्कृति दिवस पर चुड़कानी, भात, टपकी, सिन्ने का साग, मडुवे की रोटी, चटनी जैसे पहाड़ी व्यंजनों का लगा तड़का ….

★कार्यक्रम में स्कूली बच्चों ने बहुत चर्चित गाना “गुलाबी शरारा” पर दी मनमोहक प्रस्तुति….

★रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”….

ढोलीगांव ओखलकांडा
राजकीय इंटर कॉलेज ढोलीगांव में उत्तराखंड आंदोलन के जननायक एवं प्रणेता उत्तराखंड के गांधी स्व. इंद्रमणि बडोनी जी के जयंती को लोक संस्कृति दिवस के रूप में हर्षोल्लास से मनाया गया।

रविवार को राजकीय इंटर कॉलेज ढोलीगांव के प्रभारी प्रधानाचार्य शंकर सिंह बोरा ने दीप प्रज्वलित कर इंद्रमणि बडोनी को माल्यार्पण से किया । इस अवसर पर स्कूल में विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गई।

इस अवसर पर विद्यालय में मांगल गीत एवं झोड़ा नृत्य भी प्रस्तुत किया गया। सभी छात्राएं के साथ शिक्षिकाएं कुमाऊनी और गढ़वाली वेशभूषा में नजर आई।
कार्यक्रम में स्कूली बच्चों ने बहुत चर्चित गाना गुलाबी शरारा ,अब लगलू मंडाण, तेरी खुटियूं मां, फूल फूलयो यारा, छकना बांद देश रंगीला, आ लेके चलूं तुझको, रानीखेता राम डोला, चुनरी जयपुर से मंगवा दे, गजमन पाणी, महाकाली नृत्य, मेरो लंहगा पर रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देकर सभी का मन मोह लिया। इस अवसर पर स्कूल की शिक्षिकाओं के नेतृत्व में आकर्षक प्रस्तुतियां देकर सभी दर्शकों की खूब तालियां बटोरी।
इस अवसर पर विद्यालय के सभी छात्र छात्राएं को पहाड़ी व्यंजनों का स्वाद जिसमें चुड़कानी, भात, टपकी, सिन्ने का साग, मडुवे की रोटी, चटनी। पूरे विद्यालय परिवार ने स्वाद लिया ।

अपने समापन भाषण में प्रधानाचार्य शंकर सिंह बोरा ने अपनी संस्कृति को हर संभव प्रयास से बढ़ावा देने के हर प्रयास का पुरजोर समर्थन किया और छात्र छात्राओं को अपनी संस्कृति खानपान में अपने पहाड़ी व्यंजनों का एवं पहाड़ी बोली भाषा का प्रचार प्रसार में बढ़ चढ़कर आगे आने को कहा। इस अवसर प्रभारी प्रधानाचार्य शंकर सिंह बोरा सहित सभी शिक्षक एवं शिक्षिकाएं सहित स्थानीय लोग उपस्थित रहे।