@. एडवाइजरी जारी ★. क्या एक बार फिर डरा रहा है कोरोना नया वेरिएंट स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में… ★. उत्तराखंड में कोरोना के नए स्वरूप को लेकर सरकार ने एडवाइजरी जारी की… रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

246

@. एडवाइजरी जारी

★. क्या एक बार फिर डरा रहा है कोरोना नया वेरिएंट स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में…

★. उत्तराखंड में कोरोना के नए स्वरूप को लेकर सरकार ने एडवाइजरी जारी की…

रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

देहरादून
उत्तराखंड सरकार ने कोविड-19 के नए भिन्न जेन-1 को लेकर सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। प्रदेश भर में कोरोना की इस नई विविधता को लेकर एडवाजरी जारी की गई है। स्वास्थ्य सचिव आर. कुमार ने कुछ राज्यों में जेएन.1 के विभिन्न राज्यों की संख्या में वृद्धि की है। ऐसे में प्रदेश में कोरोना की रोकथाम के लिए हरसंभव प्रयास के लिए एडवाजरी जारी की गई है।

स्वास्थ्य सचिव डा. आर. सभी जिला उद्यमियों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश जारी करने के निर्देश दिए गए हैं कि राजेश में कोविड से बचाव के लिए निजीकरण जारी करें। साथ ही सांस, दांतों और हृदय की स्थिति की निगरानी की जाए और उनके संक्रमण की जांच की जाए। ऐसे लोगों की सभी जानकारी इंटीग्रेटिड हेल्थ इंफॉर्मेशन पोर्टल में प्रवेश करने के निर्देश भी दिए गए हैं। इसके साथ ही लोगों को श्वसन स्वच्छता के प्रति भी सलाह दी गई।

विशेषज्ञ है कि प्रदेश में अब तक कोविड-19 के नये भिन्न जेन.1 का कोई मरीज नहीं है। पर्यटन के लिए विशेष रूप से प्रदेश के सभी पहलुओं की जानकारी दी गई है।

स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर. राजेश कुमार ने राज्य के समस्त जिला अधिकारी, समस्त मुख्य चिकित्साधिकारी को पत्र लिखा है। कृपया शैक्षिक विषय सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार का पत्र संख्या DO.NO.2.28015/182/2021-DMCell दिनांक 18 दिसंबर 2023 (संलग्न) का संदर्भ लेने का सुझाव दिया गया है।पिछले कुछ दिनों में कुछ राज्यों में COVID-19 की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई है। इसी तरह कम में जिला स्तर पर कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए निरंतर निगरानी की जानी अतिआवश्यक है। हुआ है.
यद्धपि इंटरनेट की दृष्टि से भारत सरकार के क्रम में जिला स्तर पर अग्रिम कार्यवाही करने का प्रयास करें:-

1 – भारत सरकार द्वारा निर्देशित निर्देश “कोविड-19 के संदर्भ में संशोधित निगरानी रणनीति के लिए परिचालन दिशानिर्देश” (संगठन) का बनाया जाएगा।

. स्तर जिला पर इन्फ्लुएंजा जैसी बीमारी (ILI)/गंभीर तीव्र श्वसन बीमारी (SARI) पर निगरानी की जाये।

कोविड-19 प्रबंधन इकोनोमिक स्केल पर समग्र समग्र सुनिश्चित स्कोर जायें।

आम जनमानस में श्वसन स्वच्छता (श्वसन स्वच्छता) के प्रति जागरूकता के लिए विभिन्न माध्यमों से व्यापक प्रचार-प्रसार किया गया।

आईएलआई/एसएआरआई के लक्षण मूलतः आवश्यक आवश्यक दस्तावेज़ सुनिश्चित करना।