@ इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय का 37 वां दीक्षांत समारोह संपन्न…. ★11 सीनियर सिटीजन ने उपाधि प्राप्त की…… ★रिपोर्ट- (सुनील भारती) “स्टार खबर” नैनीताल…..

36

@ इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय का 37 वां दीक्षांत समारोह संपन्न….

★11 सीनियर सिटीजन ने उपाधि प्राप्त की……

★रिपोर्ट- (सुनील भारती) “स्टार खबर” नैनीताल…..

*मुख्य बातें-*

1. पढ़ने की कोई उम्र नहीं। 11 सीनियर सिटीजन ने उपाधि प्राप्त की।

2. क्षेत्रीय केंद्र , देहरादून में 11 सीनियर सिटीजन ने उपाधि प्राप्त की जिनमे से 08 सीनियर सिटीजन शिक्षार्थी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण।

3. 65 वर्षीय दिब्येन्दू मुखर्जी ने डिस्टिंक्शन के साथ मनोविज्ञान में प्राप्त की स्नातकोत्तर डिग्री। श्री दिब्येन्दू मुखर्जी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया एवं भारतीय सेना के पूर्व अधिकारी रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा उम्र के बंधनो से मुक्त है जिसके लिए इग्नू एक बेहतर विकल्प है। उन्होंने युवाओं को उचित परामर्श देने के लिए मनोविज्ञान में स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त की है।

4. इग्नू के 37 वें दीक्षांत समारोह में कुल उपाधिधारकों की संख्या 308584 जिनमे 3300 उपाधिधारक क्षेत्रीय केंद्र , देहरादून के हैं। सभी शिक्षार्थियों की डिग्री डीजी लॉकर में उपलब्ध है।

5. इग्नू की गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा का नतीजा –
52 % शिक्षार्थी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण।
45 % शिक्षार्थी द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण।
डिस्टिंक्शन के साथ उत्तीर्ण होने वाले 46 शिक्षार्थी।

6. वर्ष 2023 में इग्नू क्षेत्रीय केंद्र देहरादून में 18576 शिक्षार्थी नामांकित जिसमे 44 प्रतिशत 20 वर्ष से कम उम्र के हैं जो इस बात का द्योतक है कि युवाओं का उच्च शिक्षा का पहला विकल्प इग्नू बन रहा है।

7. महिला सशक्तिकरण के सन्दर्भ में –
स्नातकोत्तर डिग्री में 49 % महिलाओं की भागीदारी
उपाधि प्राप्त करने वालों में 49.3 प्रतिशत महिलायें

इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ने मुख्यालय सहित देशभर के 39 क्षेत्रीय केंद्रों पर अपना 37वां दीक्षांत समारोह मनाया । मुख्यालय के दीक्षांत समारोह के मुख्य अथिति भारत के उपराष्ट्रपति माननीय श्री जगदीप धनखड़ जी थे। उन्होंने सभी उपाधिधारकों को अपना आशीर्वाद प्रेषित किया एवं भविष्य में निरंतर अग्रसर रहने की प्रेरणा दी। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर नागेश्वर राव ने वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया ।

उसी कड़ी में इग्नू क्षेत्रीय केंद्र देहरादून पर भी दीक्षांत समारोह मनाया गया जिसके मुख्य अतिथि उत्तराखंड सरकार के अपर मुख्य सचिव माननीय श्री आनंद बर्धन जी थे एवं विशेष अतिथि उत्तराखंड राज्य उच्च शिक्षा उन्नयन समिति के उपाध्यक्ष , माननीय डॉ. देवेंद्र भसीन जी थे।

*कार्यक्रम के मुख्य अतिथि, श्री आनंद बर्धन जी के द्वारा दिए गए दीक्षांत भाषण की प्रमुख बातें -*

1. उन्होंने सभी उपाधिधारकों को बधाई दी एवं शिक्षा के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी में उल्लेखनीय वृद्धि पर प्रसन्नता व्यक्त की।

2. अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इग्नू की बढ़ती लोकप्रियता इसकी गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा का द्योतक है।

3. इग्नू युवा शिक्षार्थियों में उच्च शिक्षा की पहली पसंद बनता जा रहा है।

*कार्यक्रम के विशेष अतिथि, डॉ. देवेंद्र भसीन जी के द्वारा दिए गए भाषण की प्रमुख बातें -*

1. उन्होंने शिक्षार्थियों को अपना आशीर्वाद प्रेषित करते हुए उनकी सफ़लता पर बधाई दी एवं कहा कि आप जिस भी कार्य में संलग्न हों उसमे अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करें। ये श्रेष्ठ प्रदर्शन करने की आदत आपको एक दिन आसमानों की बुलंदियों पर पंहुचा देगी।

2. उन्होंने शिक्षार्थियों को कहा कि यह उपाधि आपके लिए केवल एक ‘मील का पत्थर’ है , इससे आपको बहुत आगे बढ़ना है। इसके लिए आप आज ही संकल्प लें और माननीय प्रधानमंत्री जी के 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाने के अभियान में अपनी अहम भूमिका निभाएं।

इस अवसर पर इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र , देहरादून के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. रंजन कुमार ने क्षेत्रीय केन्द्र, देहरादून के मुख्य अतिथि, विशेष अतिथि एवं अन्य अतिथिगणों के दीक्षांत समारोह में पधारने पर उनका हृदय से आभार व्यक्त किया एवं क्षेत्रीय केन्द्र की वार्षिक प्रगति रिपोर्ट पढ़ी।

*क्षेत्रीय निदेशक डॉ. रंजन कुमार द्वारा प्रस्तुत वार्षिक प्रतिवेदन के मुख्य बिंदु-*

1. वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए क्षेत्रीय निदेशक ने कहा कि गतवर्ष 18576 शिक्षार्थियों ने नामांकन लिया जिसमे 44 प्रतिशत 20 वर्ष से कम उम्र के हैं जो इस बात का द्योतक है कि युवाओं का उच्च शिक्षा का पहला विकल्प इग्नू बन रहा है।

2. गतवर्ष नामांकित 18576 शिक्षार्थियों में महिलाये 49.3%, पुरुष 50.2% , आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग 01 %, सामान्य श्रेणी 71%, अन्य पिछड़ा वर्ग 9%, अनुसूचित जाति वर्ग 12%, अनुसूचित जनजाति वर्ग 06%, ग्रामीण क्षेत्र 37%, शहरी क्षेत्र 62% हैं।

3 . दीक्षांत समारोह में क्षेत्रीय केन्द्र के 3300 शिक्षार्थियों को उपाधि प्रदान की गई जिनमें 1718 स्नातक डिग्री कार्यक्रम, 1129 स्नातकोत्तर डिग्री कार्यक्रम, 279 स्नातकोत्तर डिप्लोजमा कार्यक्रम, 56 डिप्लोेमा कार्यक्रम , 15 स्नातकोत्तर प्रमाणपत्र कार्यक्रम एवं 103 प्रमाणपत्र कार्यक्रम सम्मिालित हैं जो पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 18 प्रतिशित अधिक है।