@कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल में तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का सफलतापूर्वक समापन …… ★कृषि एवम् पर्यावरण विकास हेतु प्रद्योगिकी के महत्त्वपूर्ण भूमिका पर चर्चा….. ★रिपोर्ट – (सुनील भारती ) “स्टार खबर ” नैनीताल…..

81

@कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल में तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का सफलतापूर्वक समापन ……

★कृषि एवम् पर्यावरण विकास हेतु प्रद्योगिकी के महत्त्वपूर्ण भूमिका पर चर्चा…..

★रिपोर्ट – (सुनील भारती ) “स्टार खबर ” नैनीताल…..

 

 

कुमाऊं विश्वविद्यालय, नैनीताल के हरमिटेज़ में आयोजित किए जा रहे तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का सफलतापूर्वक समापन किया हुआ। आज तृतीय दिवस की शुरुआत अंतिम सत्र से हुई जिसमें कृषि एवम् पर्यावरण विकास हेतु प्रद्योगिकी के महत्त्वपूर्ण भूमिका पर चर्चा की गई। सत्र के मुख्य वक्ता डा० संजय कुमार झा, सचिव, ए. ई. डी. एस. ने फसलों पर बढ़ते आपत्तिजनक खरपतवार के प्रकोप और मशरुम उत्पादन जैसे लाभदायक आयामों पर प्रकाश डाला, साथ ही समारोह मै मोजूद अन्य प्रतिभागियों ने अपनी मौखिक प्रस्तुतियां दीं। कार्यक्रम के समापन समारोह मै सभी चयनित प्रतिभागियों को प्रो० जीत राम, डॉ० छत्रपाल, मुख्य अतिथि डा० चंद्रगिरी चरेलु, डा संजय कुमार झा एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में हंगरी से आए प्राध्यापक एवं वैज्ञानिक डा० लास्लो राडोक्स, डा० गाबोर तारकोली एवम् डा० सुषना द्वारा मेडल एवं प्रमाण पत्र वितरित किए गए। कार्यक्रम में 125 प्रतिभागियों ने अपनी मौखिक प्रस्तुति दी, वहीं 45 प्रतिभागियों ने पोस्टर प्रस्तुति कर प्रतिभाग किया। अपने उत्कृष्ट शोध प्रदर्शन के लिए डाओ नंदन सिंह, डा० जावेद इक़बाल, डा० कीर्ति नगरकोटी, डा० मैत्री को सर्वश्रेष्ठ मौखिक प्रदर्शन, एवम् कीर्ति तनेजा, कुमारी लेपचा, कुमारी तोशिबा, रेहान को द्वितीय एवम् डा० वेद प्रिया, डा० संजय, कुमारी खिहाम को तृतीय मौखिक प्रदर्शन पुरस्कार से सम्मानित किया गया। सर्वश्रेष्ठ पोस्टर प्रदर्शन के लिए कुमारी शिल्पा, कुमारी स्वाति जोशी को पुरस्कृत किया गया। साथ ही श्री अनुज कुमार सिंह, कुमारी सृजना बिश्वास, कुमारी मोनिका, कुमारी चंद्रप्रभा को भी पोस्टर परदर्शन के लिए पुरस्कार मिला।
कार्यक्रम में देश-विदेश से शामिल हुए करीब 18 शोधार्थी, वैज्ञानिक एवं प्राध्यापको को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया।
समापन के अन्तिम क्षणों में विशिष्ठ अतिथि डा० लासालो रेडोक्ज ने सभागार को संबोधित करते हुए समस्त विश्वविद्यालय परिवार एवं आयोजन कर्ता को सराहा साथ ही हंगरी में आयोजित किए जाने वाले आगामी सम्मेलनों के लिए भी स्वागत किया। काठमांडू से आए डा० संजय कुमार झा ने भी तीन दिवसीय कार्यक्रम कि सफलता एवं उसमे हुई महत्वपूर्ण चर्चाओं से निकले निष्कर्षों के लिए बधाई दी।
सम्मेलन के सूत्रधार एवं संचालक डा० ललित तिवारी ने कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए सभी गणमान्य अतिथियों, देशभर से आए प्रतिभागियों, एग्रो एनवायरनमेंट डेवलपमेंट सोसाइटी रामपुर के अध्यक्ष डॉक्टर छत्रपाल एवम् कार्यकर्ता, समस्त कुमाऊं विश्विद्यालय परिवार के प्राध्यापक एवम् स्टाफ, मीडिया अन्य सभी का धन्यवाद ज्ञापन किया। कार्यक्रम में डॉक्टर बोरलॉग ,डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन को भी याद किया गया ।राष्ट्रगान के साथ कांफ्रेंस संपन्न हुई ।अंतराष्ट्रीय कांफ्रेंस में डॉक्टर वंदना नेगी ,डॉक्टर भट्ट ,डॉक्टर ईरा तिवारी ,डॉक्टर नवीन पांडे ,दीपा राणा ,निर्मला , कविता , इंद्र रौतेला ,डॉक्टर दिव्या सिंह , शहबाज, आरिफ सहित प्रतिभागी शामिल रहे ।