आखिर मिल गया लापता SDM… ये बताई वजह लेकिन अभी लोकेशन तक पहुंचने की नहीं अनुमति….डीएम से लेकर पूरे अमले ने ली राहत की सांस..

0
460

बिग ब्रेकिंग
चम्पावत – पिछले 44 घंटे से गायब सदमा का पता चल गया है। डीएम नरेंद्र भंडारी को SDM ने फोन कर दी जानकारी बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य कारणों की वजह से कहीं जाने की बात कही है साथ ही जल्द वापस आने की कहीं बात कही हालांकि अभी लोकेशन के बारे में नहीं दी कोई जानकारी। 11 सितंबर को दोपहर 2बजे एसडीएम की आखिरी लोकेशन थी चंपावत में थी लेकिन लापता सदर SDM के फोन के बाद प्रशासन ने ली राहत की सांस ली है।
बताया जा रहा है कि SDM ने 15 दिन की छुट्टी मांगी लेकिन छुट्टी नहीं मिली जिजके बाद एसडीएम गायब हो गए।

कल ऐसे गायब हुए थे एसडीएम

कल चम्पावत के सदर एसडीएम अनिल चन्याल के सुबह सोमवार ऑफिस ना पहुंचने के प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ था..जिसके बाद चंपावत कोतवाली में एसडीम के लापता होने की सोमवार देर शाम को गुमशुदगी दर्ज कराई गईं …पुलिस को इतवार के दोपहर 2:00 बजे पुलिस मोबाईल जो लोकेशन मिली है वह चंपावत मिली थी.. उसके बाद लगातार मोबाइल नंबर स्विच ऑफ आ रहा था..सरकारी वाहन और निजी वाहन घर में मिले खडे साथ
सरकारी फोन भी कमरे मिला है…
साथ में एक चिट्ठी मिली है जिसमें लिखा कि सरकारी फोन को आपदा में जमा कर दें… जिसके बाद एसडीम की तलाश शुरू की गई थी
वही चंपावत डीएम नरेंद्र भंडारी का कहना है शनिवार और इतवार की छुट्टी थी…एसडीएम का फोन स्विच ऑफ आ रहा है…पुलिस की टीम एसडीएम की तलाश में जुट गई है… उसके बाद ही कारणों का पता चल पायेगा।

बताया जा रहा है कि उन्होंने शनिवार की शाम को अपने कुक रमेश राम को छुट्टी में घर भेज दिया था। शनिवार की सुबह उन्होंने अपने कार्यालय में पंत जयंती मनाई थी। रविवार की दोपहर बाद उन्होंने अपने गनर मोहन भट्ट को भी घर भेज दिया। एसडीएम सदर के लापता होने की जानकारी सोमवार की सुबह हुई। चालक और गनर वाहन लेकर पूल्ड आवास स्थित उनके कमरे में पहुंचे तो वे वहां नहीं मिले। दोपहर तक उनका कहीं सुराग नहीं लगा तो कार्यालय में तैनात होम गार्ड ने कोतवाली में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी है। घटना की सूचना के बाद छुट्टी में गए एसपी देवेंद्र पींचा भी लौट आए हैं। एसपी मंगलवार को अपने कार्यालय पहुंचेंगे। एसडीएम के लापता होने की खबर आग की तहर फैल गई है। इस घटना से प्रशासन में हड़कंप मच गया है। कोतवाल योगेश उपाध्याय ने बताया की पीआरडी जवान की तहरीर पर गुमशुदगी दर्ज करने के बाद उनकी खोजबीन शुरू कर दी है। आस-पास के जंगलों में कांबिंग की जा रही है। एसडीएम का सरकारी फोन कमरे में ही पड़ा हुआ मिला है। जबकि निजी फोन बंद है। जिसकी अंतिम लोकेशन चंपावत में ही मिली है। उसकी लोकेशन चम्पावत में ही मिल रही है। पुलिस ने उनके कुक, गनर और विभाग के कर्मचारियों को पूछताछ के लिए बुलाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here