चलो चारधाम…….चारधाम यात्रा शुरू सीएम ने माँ गंगा से मांगी राज्य और देश की खुशहाली

41

रिपोर्टर तनुजा बंगारी बिष्ट

उत्तराखण्ड – आज से उत्तराखण्ड में चारधाम यात्रा की शुरुआत हो गई है..आज अक्षय तृतीया के मौके पर ठीक सवा 11 बजे गंगोत्री धाम के कपाट खुल गये हैं जिसके बाद सवा 12 बजे यमुनोत्री धाम के भी कपाट श्रृधालुओं के लिये पूजा पाठ के बाद खोल दिये गये हैं। 2 साल बाद शुरु शुरु हुई चारधाम यात्रा में अब 6 मई को बाबा केदारनाथ के द्वार खुलेंगे जिसके बाद 8 मई को बद्रीनाथ धाम को भी श्रृधालुओं के लिये ओपन कर दिया जायेगा। सोमबार तक 431809 श्रृधालुओं ने अपना पंजीकरण यात्रा के लिये करवाया है। इसके साथ ही केदारनाथ की पंच मुखी चल विग्रह डोली गुप्तकाशी से फाटा के लिये रवाना हो गई है जो अपने विभिन्न पढावों के बाद 4 मई को गौरीकुंड़ होकर 5 को केदारनाथ पहुंचेगी जिसके बाद 6 मई को बाबा केदार के कपाट खुल जाएंगे..बाबा केदार के साथ सैंकड़ों श्रृधालु केदानाथ के लिये रवाना हो रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने की पूजा तो उमड़ा जनसैलाब….

चार धाम यात्रा के शुरु होने पर राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने परिवार के साथ गंगोत्री धाम में पूजा कर माँ गंगा से राज्य की खुशहाली की कामना की है। इस दौरान सीएम ने कहा कि राज्य में जो भी श्रृधालु चारधाम यात्रा पर आयेंगे उनके लिये सरकार ने सुगम और सरल व्यवस्था की है..श्रृधालु दर्शन पूजन के बाद वापस लौटें और इस दौरान उनकी कठनाईयों को भी कम किया गया है। हांलाकि पहले ही दिन सैंकड़ों श्रृधालु गंगोत्री और यमनोत्री धाम पहुंचे हैं और पूजा अर्चना कर परिवार व देश की खुशहाली की कामना की है।

यात्रा से बढी कारोबारियों की उम्मीदें…..

दरअसल दो सालों से यात्रा नहीं होने से यात्रा रुट पर कारोबारियों को खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। कोरोना की वजह से श्रृधालु चारधाम नहीं आने से टैक्सी बस होटल रेस्टोरेंट घोड़ा और पोनी पोटरों को भी नुकसान झेलना पड़ा है..हांलाकि यात्रा शुरु होने के इस बार कारोबार भी बेहतर होने की संभावनाएं हैं तो हजारों लोग अब तक चारधाम आने के लिये अपना रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं। चारधाम यात्रा रुट पर कारोबारी रोहित कहते हैं कि इस बार बेहतर कारोबार की उम्मीद तो है अगर कोरोना नहीं आया तो पूराना नुकसान तो वापस नहीं लौटेगा लेकिन लोगों को रोजगार जरुर मिलेगा।