15 वर्षों बाद विकास पहुँचा गौलापार..लेकिन कमीशनखोरी ने तोड़ी सड़क..विधानसभा लालकुआं के क्षेत्रान्तर्गत का मामला…

228

गुणवत्तापरक सड़क न बनाये जाने पर ग्रामीणों में पनपा रोष..आर.टी.आई एक्टिविस्ट ने उठाई जाँच की माँग…

उत्तराखंड के गोलापार क्षेत्र के किशनपुर में एक सड़क बनते ही उखड़ गई।जिससे ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है।क्षेत्रवासियों का कहना है कि 15 वर्षों के बाद यहाँ पर सरकार ने सड़क बनायी है।और कमीशनखोरी का आलम यह है कि बिना बेस बनाये ही यहाँ पर सड़क बिछा दी गई।जो कि हाथ से व जूता मारने से ही उधड़ जा रही है।समाजसेवी हेमंत गौनिया की शिकायत पर आज अधिशासी अभियंता पी.डब्लू.डी गोलापार निरीक्षण पर पहुँचे।और उसकी गुणवत्ता की जाँच भी की गई।आपको बता दें कि उक्त क्षेत्र विधानसभा लालकुआं के अंतर्गत आता है जहाँ से भाजपा विधायक मोहन सिंह बिष्ट हैं।

15 वर्षों में विकास पहुँचा गौलापार..लेकिन कमीशनखोरी ने तोड़ी सड़क..लालकुआं विधानसभा क्षेत्र का मामला…

समाजसेवी व आर.टी.आई एक्टिविस्ट हेमंत गौनिया ने बताया कि 15 वर्षों बाद उक्त सड़क का निर्माण किया गया लेकिन गुणवत्ता के मापकों पर यह सड़क सही नही उतरी।विभाग में शिकायत के बाद आज अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग हल्द्वानी अशोक चौधरी दल बल के साथ मौके पर पहुँचे।ग्रामीणों ने उन्हें उक्त उधड़ती सड़क को ठीक किये जाने के लिए कहा।इस बीच ग्रामीणों व अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग के मध्य गर्मा-गर्मी भी हो गई।अधिशासी अभियंता ने उक्त की जाँच के लिए एक हफ्ते का समय दिया। और कहा कि यदि उक्त सड़क गुणवत्ता पूर्ण नही बनेगी तो मैं खुद मौके पर आकर इस सड़क को दोबारा बनवाऊंगा।तब कहीं जाकर ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ।
आर.टी.आई एक्टिविस्ट हेमंत गौनिया के अतिरिक्त मनोज पौडवाल, महेंद्र क्वीरा, सोनू पोरियल ,बालम क्वीरा, कैलाश पौडयाल ,किशन महतोलिया ,परमानंद पौडवाल, कंचन ,गायत्री भट्ट , सुनील दसीला, महिपाल रैकवाल आदि उपस्थित रहे।