धारी के अघरिया गवालकोट के लोग इनसे हैं परेशान…ग्रामीणों ने लगाए बड़े आरोप आंदोलन की चेतावनी.

76

प्रदीप कुमार की रिपोर्ट

धारी – धारी ब्लॉक के ग्राम अघरिया गवालाकोट में बाहरी बिल्डरों द्वारा गाँव को जाने वाली सड़क में अवैध रूप से दीवार निर्माण किये जाने पर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है,,रविवार को ग्रामीणों ने उक्त ठेकेदार से बात कर कहा कि जहां पर लोहे की एंगिल लगी हुई वहाँ पर दीवार लगानी चाहिये लेकिन जो मलवा सड़क में डाला गया है उसको हटाया जाए,इस दौरान स्थानीय लोहों ने कहा  कि आजकल किसान लोग यहां से फल सब्जी लाते है सड़क बन्द करने से उनका फल सब्जी घर में  खराब हो रही है ग्रामीण विनोद कुमार ने कहा जल्द से जल्द उक्त मलवे को सड़क से हटाए जिससे ग्रामीण लोग अपनी फसलों को सड़क तक ला सके । ग्रामीणों ने कहा कि गाँव की सड़क में दीवार बना दी है जिस कारण सड़क की चौड़ाई कम हो गई है दीवार को हटाने के लिए उक्त ठेकेदार से कहा ।जिस पर ठेकेदार ने कहा कि उक्त मलवे को शाम तक हटाने की बात कही है। ग्रामीणों के अनुसार बताया जा रहा है कि बिल्डर का मकान बन रहा है बताया जा रहा है कि उक्त बिल्डर गाजियाबाद निवासी गुरुदेव सिंह द्वारा अनुसूचित जाति की जमीन राजेन्द्र प्रसाद , हर्ष देव् विधान चन्द्र से ली गई थी जिसमें कि अनुसूचित जाति के लोगो की जमीन खरीदने के लिए 60 नाली उक्त लोगो के नाम होनी चाहिए तथा जिलाधिकारी द्वारा परमिशन लेने का प्रावधान है लेकिन कि प्रशासन द्वारा परमिशन दी गई है या नही दी गई है गुरुदेव सिंह का सुपर वाइजर इसकी जानकारी नही दे पाया मौके पर गाँव को जाने वाली सड़क को 1 मीटर का कब्जा किया गया है।

किसानों की बैठक में ये लिया निर्णय

 

वहीं किसानों को अपनी उत्पादित फसल को मुख्य मार्ग तक लाने में कई परेशानियां हो रही है इस सबन्ध में ग्रामीणों ने बताया कि प्रशासन को अवगत करा दिया गया है जबकि धारी तहसील से 2 किमी की दूरी में निर्माण कार्य हो रहा है लेकिन किसी भी सक्षम अधिकारी की नजर गाँव को जाने वाली सड़क पर अवैध दीवार निर्माण पर किसी की नजर नही पड़ी । विश्वस्त सूत्रों के अनुसार बिल्डर गुरुदेव सिंह को राजनीतिक संरक्षण और रसूख के चलते बेख़ौफ़ रूप से अवैध दीवार निर्माण किया जा रहा है प्रशासन के उदाशीनता को लेकर इस निर्माण के चलते ग्रामीणों में रोष है इस दौरान विनोद कुमार , सुरेश चंद्र महेंद्र कुमार पूरन चन्द्र , मोहन चन्द्र हीरा पन्त हरीश पन्त देवेन्द्र कुमार , दीप चन्द्र सुरेश पन्त , नकुल पन्त प्रदीप कुमार , सुरेंद्र कुमार आदि लोग मौजूद थे।