हैरिटेज मार्केट बड़ा बाजार में अवैध अतिक्रमणकारियों की बाढ़…अगर शीघ्र ही पुलिस व जिला प्रशासन ने नही की कार्यवाही तो होगा बड़ा आंदोलन…

175

हैरिटेज मार्केट बड़ा बाजार में अवैध अतिक्रमणकारियों की बाढ़…अगर शीघ्र ही पुलिस व जिला प्रशासन ने नही की कार्यवाही तो होगा बड़ा आंदोलन…

सरोवर नगरी का मुख्य हैरिटेज बाज़ार पिछले कुछ समय से अतिक्रमण की चपेट में है।आपको बता दें कि मल्लीताल व्यापार मंडल की संदर्भ में भूमिका भी संदिग्ध प्रतीत होती है।लगता है कि इन अतिक्रमणकारियों को पिछले दरवाजे से किसी व्यापार मंडल का वरदहस्त प्राप्त है।इसीलिए बड़ा बाजार के व्यवसायियों से ये नित्य ही किसी न किसी बात पर लड़ने-झगड़ने भी लगे हैं। एक स्थानीय व्यवसायी ने बताया कि उनके प्रतिष्ठान के सामने अवैध फड़ लगाने को लेकर पिछले दिनों विवाद भी हो गया था।जिस पर कुछ स्थानीय व्यवसायी ही फड़ लगाने वालों का समर्थन करने लगे।जिसकी शिकायत उन्होंने व्यापार मंडल अध्यक्ष मल्लीताल से की।किंतु उनकी उक्त शिकायत का कोई असर नही हुआ और उक्त स्थल पर अब भी बदस्तूर फड़ लगाया जाना जारी है।अधिकतर सप्ताह में एक या दो दिन खुल रही दुकानों के सामने ही ये अवैध फड़ लगाए जा रहे हैं…

अवैध अतिक्रमण पर गरजे प्रांतीय नगर व्यापार मंडल के प्रदेश प्रवक्ता एवं जी एस टी प्रभारी डॉ प्रमोद अग्रवाल गोल्डी…

प्रांतीय नगर व्यापार मंडल के प्रदेश प्रवक्ता एवं जी एस टी प्रभारी डॉ प्रमोद अग्रवाल गोल्डी ने कहा कि जब जिला प्रशासन द्वारा वेंडर जोन बना दिया गया है तो नैनीताल के मुख्य बाजारों में बाहर से आने वाले छुटपुट व्यापारी सड़क घेरकर अवैध रूप से कारोबार किस आधार पर कर रहे हैं..?
गोल्डी ने कहा कि नैनीताल पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन ,नगर पालिका को इन अतिक्रमणकारियों पर ध्यान देना चाहिए। और तत्काल ही इन पर बड़ी कार्यवाही करनी चाहिए।

अगर सुनवाई जल्द नही हुई तो होगा बड़ा आंदोलन…

पिछले दो वर्षों से महामारी के चलते झील नगरी के स्थानीय व्यापारियों की रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया था।फलस्वरूप मुख्य बाजारों में अतिक्रमण कर फड लगाने को कदापि न्यायोचित नही कहा जा सकता। ऐसे लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए।उन्होंने चेताया कि यदि शीघ्र ही प्रशासन ने इन मामलों पर कार्यवाही नही की तो एक बड़ा आंदोलन शुरू किया जाएगा…
गोल्डी ने कहा कि जब नैनीताल में वेंडिंग जोन में सैकड़ों फडों को स्थान दिया गया है व फेरी वाले शहर में घूम कर भी अपने उत्पादों को बेचते हैं तो फिर स्थानीय बाजारों में अवैध अतिक्रमण किया जाना अनुचित है।पुलिस प्रशासन व जिला प्रशासन को उक्त संदर्भ में कड़े निर्णय लेने चाहिए..जिससे बाजारों में अवैध अतिक्रमण पर लगाम लग सके…