उत्तराखंड में नक़ली दवाओं का कारोबार पसार रहा पैर..पुलिस छापेमारी में बड़ी कंपनियों की महंगी नक़ली दवाएं हुई बरामद…

131

उत्तराखंड में नक़ली दवाओं का कारोबार पसार रहा पैर..पुलिस छापेमारी में बड़ी कंपनियों की महंगी नक़ली दवाएं हुई बरामद…

उधमसिंह नगर के काशीपुर के रमपुरा क्षेत्रान्तर्गत एक व्यक्ति द्वारा बाहरी व्यक्ति को किराये पर घर देना महंगा पड़ गया।दरअसल रमपुरा गाँव के मनीष रस्तोगी ने किसी बाहरी व्यक्ति को किराएदार रख लिया जिसने उस भवन में कुछ मशीनें लगाकर नक़ली दवाओं को बनाने का उद्यम शुरू कर दिया।एस.एस.पी उधमसिंह नगर मंजूनाथ टी.सी को उत्तराखंड के इस जिले से अवैध उद्यमिता विकास के जरिये दवाएं यहाँ से बाहर भेजे जाने का आउटपुट मिला।जिस पर पुलिस प्रभारी निरीक्षक काशीपुर को अतिशीघ्र एक दल गठित कर कार्यवाही करने का आदेश दिया गया।सटीक सूचना के आधार पर छापेमारी में एक क्रेटा कार न0 यू.के-18 ए क्यू 1881से विभिन्न कंपनियों की अनेकों नक़ली दवाओं को बरामद किया गया।जिन्हें राज्य के बाहर भेजा जा रहा था।यह छापेमारी कल की गई थी।आपको बता दें कि उत्तराखंड के हरिद्वार,रुड़की,भगवानपुर आदि निकस्थ स्थान नक़ली दवाओं के हब के रूप में जाने लगे हैं।पिछले कुछ माह के भीतर ही यहॉं से एक दर्जन से अधिक गिरफ्तारियाँ की गई है।

पकड़े गए दोनों अभियुक्तों पर उत्तराखंड में पहले भी हुए हैं अभियोग पंजीकृत…

एस.एस.पी उधमसिंह नगर मंजूनाथ टी.सी के पुलिस मीडिया सेल ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस व औषधि निरीक्षक नीरज कुमार की इस संयुक्त कार्यवाही में नकली दवाएं बनाने की मशीन,दवाओं से भरी पेटियाँ, कच्चे माल के कट्टे व दो अभियुक्तों क्रमशः रविकांत पुत्र श्री ओमपाल निवासी रुड़की उम्र 35 वर्ष व अरुण कुमार पुत्र श्री विनोद कुमार उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम शामली वर्तमान निवासी शिवालिक नगर हरिद्वार को गिरफ़्तार किया गया है।उन्होंने कहा कि इन नक़ली दवाओं में महँगी दवाएं ऐग्युमेंटिन,अमोक्सीलिन एंड पोटेशियम क्लेवनेट्स,टेलमा ए.एम व टेलमा एच आदि अनेक दवाएं भारी मात्रा में बरामद हुई है।इन अभियुक्त गणों के विरुद्ध पूर्व में भी थाना गंगनहर जिला हरिद्वार में भी अभियोग पंजीकृत है।