गर्लफ्रैंड ने अपने बॉयफ्रेंड की मदद से अपने आशिक को दी अज़ब मौत..एक गिरफ्तार…

444

गर्लफ्रैंड ने यूज़ करके अपने  बॉयफ्रेंड की मदद से अपने आशिक को सर्प दंश द्वारा लगाया ठिकाने..भेद खुलने पर हत्याभियुक्त हुए फरार…

हल्द्वानी के तीन पानी क्षेत्र में कुछ दिन पूर्व अपनी कार में मृत मिले अंकित चौहान की गुत्थी को पुलिस ने खोल दिया है।दरअसल पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अंकित के दोनों पैरों में एक ही स्थान पर सर्प दंश के निशान थे।और परिवार जन भी हत्या की आशंका जता रहे थे। वास्तव में यह कुमाऊँ प्रवेश द्वार हल्द्वानी का पहला मामला है जिसमें एक बड़े व्यावसायिक घराने के नौजवान से अवैध वसूली कर उसे कोबरा प्रजाति के सर्प से ड्सवा कर उसे मौत के घाट उतार दिया गया।

हत्याकांड में सपेरे रमेश नाथ को पुलिस ने किया गिरफ्तार जबकि अंकित की गर्लफ्रेंड माही की पुलिस को है तलाश..-पंकज भट्ट एस.एस.पी नैनीताल…

हल्द्वानी के बहुउद्देश्यीय भवन में घटना का खुलासा करते हुए आज एस.एस.पी पंकज भट्ट ने बताया कि जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अंकित को सांप द्वारा दोनों पैरों में काटने की पुष्टि हुई तो पुलिस को हत्या का शक हुआ। पुलिस ने गहन जांच  कर हत्या का खुलासा कर एक सपेरे रमेश नाथ को गिरफ्तार किया गया है। जबकि गर्लफ्रैंड माही सहित चार लोग अभी तक फरार है।एस.एस.पी पंकज भट्ट ने पुलिस टीम को भी पुरष्कृत करने की घोषणा की।
मामला दरअसल प्यार मोहब्बत व अवैध संबंधों का रहा।हत्याकांड की मुख्य आरोपी माही उर्फ डॉली से अंकित के अवैध संबंध थे।माही अंकित से लाखों रुपया ठग चुकी थी।और अब उससे पीछा छुड़ाना चाहती थी। घटना की रात माही ने अंकित चौहान को अपने घर बुलाकर पूर्व योजना के अनुसार अपने बॉयफ्रेंड व दो अन्य को तथा सपेरे रमेश के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची और जहरीले कोबरा प्रजाति के साँप से ड्सवा दिया।अंकित की मौत के बाद माही और साथियों ने पहले लाश को अन्यत्र ठिकाने लगाने का प्रयास किया मगर असफल रहने पर तीन पानी रेल क्रासिंग के पास स्टार्ट कार के अंदर लाश को छोड़ दिया और फरार हो गए।
पुलिस पूछताछ में सपेरा रमेश नाथ ने अपना जुर्म कबूल कर जानकारी दी कि बीते शुक्रवार की रात माही ने अंकित की हत्या की योजना बनाई। और रात करीब 8 बजे अंकित को अपने घर बुलाया।जबकि सपेरा रमेश कोबरा सांप लेकर दोपहर में माही के घर पहुंच गया था।उसे इस कार्य के बदले में दस हज़ार रुपये भी मिले।अंकित को घर बुलाने के बाद माही ने अपने कथित ब्वॉयफ्रैंड दीप कांडपाल, सपेरे व नौकर-नौकरानी को मंदिर के कमरे में छिपा दिया। योजनानुसार ब्वॉयफ्रैंड दीप कांडपाल ने शराब में नशीली गोली मिलाकर अंकित को बेहोश कर बिस्तर पर उल्टा कर लेटा दिया।फिर चारों ने बेहोश अंकित के हाथ पैर पकड़ लिए तथा सपेरे रमेश ने पहले जहरीले कोबरा से अंकित के एक पैर में डसवाया।अंकित जिंदा न बच जाए इसलिए उसके दूसरे पैर में भी डसवाया गया।