हल्द्वानी कांड के पकड़े गए आरोपी खोलेंगे भेद..कोई भी आरोपी बक्शा नही जाएगा…- पुलिस कप्तान नैनीताल…

385

हल्द्वानी कांड के पकड़े गए मुख्य आरोपी खोलेंगे भेद..कोई भी आरोपी बक्शा नही जाएगा…- पुलिस कप्तान नैनीताल…

हल्द्वानी में विगत 8 फरवरी को कोर्ट के आदेश पर मलिक के बगीचे में अवैध अतिक्रमण हटाने गई नगरनिगम की टीम पर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया था।तभी से उत्तराखंड पुलिस व प्रशासन 18 नामजद व 5000 अज्ञात बलवाइयों की ढूंढ खोज में जुट गया था।पुलिस कप्तान प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि तथाकथित मलिक के बगीचे में सरकारी भूमि पर अवैध अतिक्रमण कर सभी विवादित निर्माण अब्दुल मलिक ने ही कराए थे।इसीलिए इस हल्द्वानी कांड का जनक अब्दुल मलिक व उसके बेटे को मुख्य आरोपी बताया गया था।जिन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्यवाही की जाएगी।अब्दुल मलिक की गिरफ्तारी के साथ ही सामने आया है कि जिस सरकारी जमीन को लेकर विवाद हुआ था।उस भूमि को अब्दुल मलिक 50 रुपये के स्टांप पर बेच रहा था। उसने वह जमीन सैकड़ों लोगों को बेची थी। यह भी खुलासा हुआ है कि 2014 तक मलिक के बगीचे में कोई निर्माण नहीं था लेकिन 2017 से लेकर 2023 तक अब्दुल मलिक ने अपने साथियों के साथ मिलकर 50 रुपये के स्टांप में कई लोगों को जमीन बेच दी। वर्ष 2017 के बाद ही यहां मस्जिद मदरसा और मकान बनाए गए। इसके बाद ही यहाँ पर अवैध मकानों का बनना और प्लाटिंग शुरू हुई थी।मतलब सरकारी जमीन पर अवैध तरीके से बसावट किया जाना व खरीद-बिक्री को शुरू किया गया था।ज्ञात रहे कि बनभूलपुरा रेलवे भूमि अतिक्रमण मामले में भी अब्दुल मलिक ने सर्वोच्च अदालत में वहाँ बसे गरीबों का पक्ष रखने के लिए याचिका दायर की थी।जिन गरीबों को उक्त स्थल से सरकार द्वारा उजाड़े जाने का जिक्र उन्होंने याचिका में किया था उनमें से बहुत से लोगों को अवैध तरीकों से भूमि उन्होंने व समुदाय के लोगों ने ही बेची थी।