★”अगस्त त्रासदी” सैलाबी तबाई ★मंदिर पर गिरा पहाड़ 5 की मौत 20 लोग मलबे में फंसे होने की आंशका । ★. हिमाचल में बारिश ने मचाई भारी ताबाही, 16 लोगों की मौत, IMD ने जारी किया रेड अलर्ट । रिपोर्ट -(चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

82

रिपोर्ट -(चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

हिमाचल प्रदेश में आसमान से आफत की बारिश हो रही है. इससे राज्‍य की नदियां उफान पर हैं. लगातार बारिश की वजह से राज्य में एहतियातन सभी स्कूल कॉलेजों को आज बंद कर दिया गया है. शिमला-धर्मशाला समेत करीब 500 सड़कों पर आवाजाही भूस्खलन की वजह से बंद है.
हिमाचल के सोलन में बादल फटा, IMD ने जारी किया रेड अलर्ट, स्‍कूल-कॉलेज आज रहेंगे बंद

सोलन: हिमाचल प्रदेश में एक बार फिर आफत की बारिश से जन जीवन प्रभावित है. हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश से जुड़ी दो अलग-अलग घटनाओं में 16 लोगों की मौत हो गई है. हिमाचल के कई ज़िलों में 15 अगस्त तक भारी बारिश का अलर्ट है. हिमाचल के सोलन की ममलीक के धायावला गाँव में बादल फट गया है. सोलन के डीसी मनमोहन शर्मा के मुताबिक, बादल फटने से 7 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 6 का रेस्क्यू किया गया है. उन्‍होंने बताया कि ये हादसा देर रात हुआ है. वहीं, शिमला शहर के समर हिल इलाके में एक शिव मंदिर में भूस्खलन में नौ अन्य की मौत हो गई है. हिमाचल प्रदेश में लगातार बारिश की वजह से राज्य में एहतियातन सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद कर दिया गया है. मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बताया कि भारी बारिश के कारण विद्यार्थियों की सुरक्षा के मद्देनजर यह निर्णय लिया है.
हिमाचल में आफत की बारिश

हिमाचल प्रदेश में आसमान से आफत की बारिश हो रही है. इससे राज्‍य की नदियां उफान पर हैं. लगातार बारिश की वजह से राज्य में एहतियातन सभी स्कूल कॉलेजों को बंद कर दिया गया है. शिमला-धर्मशाला समेत करीब 500 सड़कों पर आवाजाही भूस्खलन की वजह से बंद है. प्रशासन की ओर से लोगों से नदी-नालों और भूस्खलन वाले इलाक़ों में नहीं जाने की अपील की गई है. वहीं, हिमाचल प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थान (स्कूल, कॉलेज) आज 14 अगस्त को बंद है. मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने भारी बारिश के कारण विद्यार्थियों की सुरक्षा के मद्देनजर यह निर्णय लिया है.मुख्यमंत्री के आदेश पर शिक्षा सचिव ने सभी सरकारी, निजी स्कूलों, कॉलेजों को आज 14 अगस्त को बंद रखने की अधिसूचना जारी कर दी है. मुख्यमंत्री ने जिलों में भारी बारिश से हो रहे नुकसान की फीडबैक सभी डीसी से ली. उन्होंने सड़क मार्गों के बंद होने की जानकारी भी हासिल की. भूस्खलन और मकानों के क्षतिग्रस्त के कारण हुए नुकसान के बारे में भी उन्होंने जाना. वही मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव, गृह सचिव के साथ ही सभी डीसी को निर्देश दिए हैं कि भारी बरसात के कारण बने हालात पर पूरी नजर बनाए रखें. प्रशासनिक अमला मुस्तैद रहे और सड़क मार्ग, बिजली, पानी की व्यवस्था सुचारू बनाए रखें.