हल्द्वानी में नजूल भूमि पर बनाई गई मस्जिद व मदरसे को बचाने के लिए समुदाय ने महामहिम राष्ट्रपति से लगाई गुहार…

284

हल्द्वानी में जमीयते उलेमा ए हिन्द के लोगों ने नए सिटी मजिस्ट्रेट ए.पी.वाजपेयी को सौंपा ज्ञापन..नजूल भूमि पर बनाई गई मस्जिद व मदरसे को बचाने के लिए महामहिम राष्ट्रपति से लगाई गुहार…

हल्द्वानी के बनभूलपुरा क्षेत्रान्तर्गत मलिक के बगीचे में विगत दिनों से अतिक्रमण अभियान प्रशासन द्वारा चलाया जा रहा है।जिसमें सरकारी नजूल भूमि पर अवैध निर्माणों को प्रशासन द्वारा नेस्तिनाबूद किया गया।मलिक के बगीचे में ही मौके पर एक मस्जिद व एक मदरसे को भी प्रशासन द्वारा पहले नोटिस दिया गया।जिसमें वाज़िब प्रपत्र न पाए जाने पर नगर आयुक्त ने इन निर्माणों के ध्वस्तीकरण के आदेश दे दिए।जिस पर मुस्लिम समाज ख़फ़ा हो गया।आज बनभूलपुरा के स्थानीय निवासियों ने जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय पहुँच कर सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह को ज्ञापन दिया तथा जमीयते उलेमा ए हिन्द के लोगों ने नए सिटी मजिस्ट्रेट ए.पी.वाजपेयी को संबंध में उक्त निर्माणों को न तोड़े जाने को लेकर महामहिम राष्ट्रपति को एक ज्ञापन द्वारा नगर आयुक्त के आदेशों को खारिज़ करने का माँग पत्र सौंपा।

सरकारी भूमि पर अतिक्रमण बिल्कुल भी बर्दाश्त नही किया जाएगा..नए कब्जों पर जिला प्रशासन होगा जिम्मेदार…- पुष्कर सिंह धामी मुख्यमंत्री उत्तराखंड…

नवनियुक्त सिटी मजिस्ट्रेट ए.पी.वाजपेयी ने बताया कि अमुक मामले में 1 फरवरी तक का समय प्रशासन द्वारा दिया गया है।जमीयते उलेमा ए हिन्द के लोगों द्वारा दिये गए इस पत्र को अग्रसारित कर दिया जाएगा।नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय पहले ही कह चुके है कि अगर भूमिधरी की जमीन न हो और नजूल भूमि पर कब्जा किया गया हो तो इन्हें स्वतः ही खाली कर दें।अन्यथा जे.सी.बी चलाकर नगरनिगम अपनी भूमि पर कब्जा लेगा।दरअसल उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि सरकारी भूमि पर अतिक्रमण बिल्कुल भी बर्दाश्त नही किया जाएगा।अब यदि कहीं नया अतिक्रमण होगा तो जिला प्रशासन ही इसका पूर्णरूपेण जिम्मेदार माना जायेगा।