आदेश…..नैनीताल यातायात पर हाईकोर्ट का निर्णय..यहां मल्टीस्टोरी माँडल पार्किंग तो लग्जरी गाडियां पर्यटकों के लिये.स्कूल गाडियों में ये व्यवस्था…कैंचीधाम के लिये सीओ को निर्देश तो नैनीताल की सड़कों को खाली करें पालिका..

471

नैनीताल – पिछले 15 दिनों से जो हालात नैनीताल में यातायात के लिये बने हैं उससे पर्यटक से लेकर आम आदमी और स्कूली बच्चे तक परेशान हैं.. शहर का जाम लोगों के लिये परेशानी बन गया था तो पैदल चलना भी मुश्किल भरा बना हुआ है हांलाकि हाईकोर्ट ने आज पूरे मामले में सख्त आदेश दिए हैं।
आज हाईकोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस विपिन सांघी और जस्टिस राकेश थपलियाल की कोर्ट ने सरकार से कल पूछे सवालों का जवाब मांगा तो नगर पालिका ने कहा कि 11 ई रिक्शे के लाइसेंस अब तक दिये हैं वहीं सरकार ने कोर्ट में बताया कि सरकार नैनीताल में हेलीपैड़ बना रही है जिसके लिये रुसी बेलुवाखान में हेलीपैड़ निर्माण के साथ छोई रामनगर मुक्तेश्वर में नौकुचियाताल में हेलीसेवा शुरु करने की योजना है। जिसके बाद कोर्ट ने यातायात का प्लान सीओ नैनीताल से पूछा और तत्काल स्टेप लेने के निर्देश दिये हैं।

हाईकोर्ट के अहम निर्देश…..

सुनवाई के बाद चीफ जस्टिस कोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया है कि काठगोदाम रानीबाग में मल्टिस्टोरी पार्किंग जो अधुनिक हो उसका निर्माण करें..इस पार्किंग से नैनीताल के लिये लग्जरी गाडियां लगाएं ताकि पर्यटकों को बेहतर सुविधा दी जा सके। इसके साथ ही कोर्ट ने नगर पालिका नैनीताल को आदेश दिया है कि वो मालरोड़ से गाडियों का अतिक्रमण को हटाएं कोर्ट ने कहा कि सड़कों के दोनों तरफ बाइकें गाड़ी खड़ी करना स्वीकार्य नहीं हो सकता जिस पर कार्रवाई करें। कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया है कि वो लगातार पेट्रोलिंग करें और नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों का चलान काटें इससे पहले पार्किंग और नो पार्किंग जोन का निर्धारण करें।

वहीं पालिका को कहा है कि वो ईरिक्सा की संख्या बढाएं और 50 तक लाइसेंस दें। हाईकोर्ट की बैंच ने डीएम नैनीताल को निर्देश दिया है कि वो मुख्य शिक्षा अधिकारी के साथ एक बैठक कर शहर के सभी स्कूलों का समय एक जैसा करें ताकि आवाजाही कि दिक्कतें ना हो सके और स्कूल वाहनों पर स्कूल वाहन का टैग जरुर होना चाहिये। कोर्ट ने भवाली और हल्द्वानी रोड़ पर खड़ी गाडियों पर भी संज्ञान लिया है और उचित कार्रवाई के निर्देश दिये हैं।

इसके साथ ही कैंचीधाम में लगातार बढ रहे पर्यटकों के दबाव पर हाईकोर्ट ने सीओ भवाली को निर्देश दिया है कि वो रोजाना यातायात का प्लान तैयार करें और पार्किंग में ही वाहनों को पार्क करें सड़को पर जाम की स्थिति ना बने इसके लिये कार्रवाई करें।
आपको बतादें कि पिछले कई दिनों से नैनीताल में यातायात बड़ी समस्या बना हुआ है और मालरोड़ से लेकर अन्यसड़कें जाम में तब्दील हो रही हैं..जाम के चलते पार्किंग की बड़ी समस्या हो रही है तो स्कूली बच्चों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हांलाकि इससे पहले जिला प्रशासन ने पर्यटन सीजन की बैठक में कई निर्णय लिये थे जिसमें गाडियों को शहर से बाहर पार्क करने के साथ शटल सेवा से नैनीताल तक लाने की योजना बनाई थी लेकिन पर्यटकों के दबाव के चलते सभी व्यवस्थाए पटरी से उतर गई हैं। हांलाकि कोर्ट में याचिका आने के बाद अब कुछ हद तक यातायात में सुधार हुआ है।