शर्मनाक…..24 गांव के लोगों के साथ स्कूलों में बच्चे भी प्यासे… नैनीताल विधायक सरिता आर्या वोट लेकर अब नहीं ले रही है जनता की सुध …… पूरे इलाके में जल संकट पर अब बडे आन्दोलन की तैयारी.. गदेरे से पानी भर रहे हैं बुजुर्ग और बच्चे.. अधिकारियों के चक्कर काट रहे हैं ग्रामीण…

110

 

नैनीताल – नैनीताल का एक बड़ा इलाका पानी की समस्या झेल रहा है.. चुनाव में इस पूरे इलाके से बीजेपी को खूब वोट मिले लेकिन अब जब पानी की समस्या से पूरा इलाका परेशान है लेकिन कोई नेता इनकी सुध लेने नहीं आ रहा है। हालात इतने ज्यादा खराब हैं कि पिछले एक हफ्ते से पानी की एक बूंद नलों से नहीं टपकी है लेकिन विधायक सरिता आर्या व कोई अधिकारी इनकी सुध लेने को तैयार नहीं है। हालाकि पूर्व जिला पंचायत सदस्य गणेश मेहरा ने जल संस्थान के अधिकारियों को ज्ञापन देकर जल्द कार्रवाई की मांग की है।

दो दर्जन गांव में पानी का है संकट और विधायक गायब....

दरअसल पिछले कुछ दिनों से पानी का संकट लगातार इस इलाके में है तो पिछले एक हफ्ते से 24 गाँवों पर पानी का संकट बन गया है। खमारी सारी पम्पिंग योजना बंद होने से मंगोली, कालीचौड़,पोखरीधार खमारी गजार देवीधार चौणीधार के साथ कई स्कूलों में पानी का संकट बन गया है। पूर्व जिला पंचायत सदस्य गणेश मेहरा ने पत्र में कहा है कि इस पम्पिंग योजना के खराब होने से पूरे इलाके में पेयजल के गम्भीर संकट पैदा हो गया है और स्कूली बच्चों से लेकर स्थानीय लोग गदेरे से पानी ढोने को मजबूर हो गये हैं। अपने पत्र में पूर्व जिला पंचायत सदस्य ने स्थानीय लोगों की आवाज उठाते हुए कहा है कि इंसानों के साथ जानवरों को भी पानी का संकट बन गया है और लोग दूषित पानी पीने को मजबूर हैं जिससे बीमारी फैलने का खतरा बन गया है।साथ ही प्रशासन को कहा है कि पानी नहीं होने से लोग शौचालय बंद कर खुले में शौंच जाने को भी मजबूर हैं। इस पूरे क्षेत्र के लोगों ने आगाह किया है कि जल्द अगर पेयजल नहीं मिला तो वे आन्दोलन को विवश होंगे…