हद है….ये तो कानूनी दावँ पेंच लगाने वाला ही निकला…महिला पर्यटकों के पर्स चुराया राहगीरों व पुलिस ने दबोचा, -पर्यटकों की शिकायत पर मुकदमा दर्ज – खुद को जिला कोर्ट का अधिवक्ता बताया

153

नैनीताल। नैनीताल के तल्लीताल क्षेत्र में खुद को जिला कोर्ट में अधिवक्ता बताने वाले व्यक्ति ने महिला पर्यटक का बैग चुरा लिया। वह बैग चुराकर भागा ही था कि महिला पर्यटकों का शोर सुन राहगीरों व पुलिस ने उसको दबोच लिया। पर्यटकों की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है।
जानकारी के अनुसार रविवार को तल्लीताल क्षेत्र में एक हॉस्टल में रहने वाली वैष्णवी साह ने तल्लीताल डाट पर तैनात पुलिसकर्मियों को उसका पर्स खोने की शिकायत की। जिसके बाद चीता कांस्टेबल अमित गहलोत और चनीराम बैग तलाश करते हुए लाउडस्पीकर पर लोगों से बैग की सूचना देने की अपील की। जिसके कुछ देर बाद बस स्टेशन के समीप ही बैग बरामद हो गया। लेकिन बैग में रखे साढ़े तीन हजार रुपये गायब थे। वहीं शाम को दिल्ली निवासी रेशमा ने भी उसका पर्स खोने की शिकायत की। जिसके बाद पुलिस सीसीटीवी में फुटेज खंगालने लगी। वहीं शाम को गाजियाबाद निवासी नेहा गुप्ता अपने परिवार के साथ तल्लीताल में वापसी के लिए अपने सामान के साथ बैठे थे। इस दौरान एक व्यक्ति महिला पर्यटकों का बैग उठाकर भागने लगा। महिला ने यह देख शोर किया तो राहगीरों व पुलिस ने व्यक्ति को पकड़ लिया। इस दौरान व्यक्ति स्वयं को अधिवक्ता बताकर बैग सड़क में गिरा होने की कहानी बताने लगा। इस दौरान पर्यटकों व व्यक्ति के बीच मामला गरमाने लगा तो पुलिस व्यक्ति को थाने ले आई। करीब एक घण्टे पूछताछ के बाद भी व्यक्ति ने नाम नहीं बताया। वह खुद को जिला कोर्ट में अधिवक्ता बताता रहा। इधर गाज़ियाबाद निवासी नेहा के पति सौरभ गुप्ता ने व्यक्ति पर चोरी का आरोप लगाते हुए तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद पुलिस ने सख्ती के साथ पूछताछ की तो उसने अपना नाम पता बताते हुए चोरी की बात कुबूल ली। साथ ही उसके पास चोरी किया हुआ पर्स व सामान भी बरामद कर लिया गया।
एसओ रोहिताश सिंह सागर ने बताया कि खुर्पाताल निवासी आनन्द सिंह के खिलाफ सम्बंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। न्यायालय में पेश करने की तैयारी की जा रही है
—————–