सावधान…नैनीताल में साइबर ठगों की रड़ार पर हैं कारोबारी…..आपके जेब पर डांका डालने को तैयार बैठे हैं ये लोग…पढ़ें पूरी कहानी

63

नैनीताल – अगर आप आँन लाइन शाँपिंग और होटलों की बुकिंग करते हैं तो सावधानी से करें..आप साइबर ठगों की रड़ार पर हो सकते हैं..इन ठगों से नैनीताल में होटल मालिक से लेकर पर्यटक तक परेशान हैं ये ठग पुलिस को भी चुनौती दे रहे हैं। हांलाकि पहाड़ में पर्यटन पीक पर है तो साइबर ठगों की नजरें पर्यटकों और होटल मालिकों की जेब पर है। ठग फर्जी वेबसाइड़ तैयार कर पर्यटकों को चूना लगा रहे हैं..ये खुलासा तब हो रहा है जब पर्यटक ठगों का शिकार बनकर नैनीताल पहुंच जा रहे हैं।

होटल मालिक ठगों से परेशान...

नैनीताल के होटल मालिक साइबर ठगों की रड़ार पर हैं। जी हां होटलों की फर्जी वेबसाइड़ तैयार कर साइबर अपराधी पर्यटकों की जेब में डांका ड़ाल रहे हैं तो पर्यटकों को फर्जी तरिके से नैनीताल घूमने भेज रहे हैं। पर्यटक और होटल मालिक तब इस खेल को समझ रहे हैं जब नैनीताल पहुंचकर पर्यटक होटल के कमरे की बुकिंग की बात कहकर कमरे देने की मांग कर रहे हैं। हांलाकि कई बार तो पर्यटक और होटल संचालकों में झगड़े भी हो रहे हैं वहीं होटल एसोसिएशन इस पर एफआईआर भी दर्ज कर चुका है तो पुलिस से कार्रवाई की भी मांग कर रहे हैं। नैनीताल होटल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष दिग्विजय बिष्ट ने कहा कि लगातार इस तहत के मामले सामने आ रहे हैं जिसमें गुगल पेज पर जाकर ठग होटलों की फर्जी बेवसाइड़ तैयार कर पैंसा ले रहे हैं और पर्यटकों को यहां होटलों में भेज रहे हैं दिग्विजय कहते हैं कि इससे पैंसे के साथ नैनीताल की बदनामी हो रही है जिससे दोहरा नुकसान हो रहा है। महाराजा होटल के साथ शिवराज होटल में हुई ताजा ठगी पर प्रदीप जेठी ने कहा कि वेबसाइड़ हैक कर रहे हैं कई बार ठग तो वेबसाइड़ को अपड़ेट करने के चक्कर में वेबसाइड़ को अपने कंट्रोल में ले रहे हैं।

पुलिस के लिये भी हैं ठग चुनौती…

दरअसल पिछले कुछ सालों में लूट पाट की घटनाओं में कमी आई है तो अपराधियों ने साइबर अपराध को नया ठिकाना बनाया है। इसमें बंदूक की दम पर नहीं बल्कि मोबाइल लैपटाँप इंटरनेट के जरिये लोगों के बैंक एकाउण्ट के साथ जेबों को खाली किया जा रहा है तो फर्जी बेवसाइड़ तैयार कर डांका डाला जा रहा है। इन ठगों का तंत्र इस कदर है कि इन तक पुलिस के हाथ पहुंचना भी कठिन है। हांलाकि उत्तराखण्ड पुलिस सैंकड़ों में सिर्फ 1-2 मामले खोलकर अपनी पीठ ठपथपा रही है। राज्य के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि उत्तराखण्ड चार धाम यात्रा में हैली सेवा की फर्जी टिकट बुकिंग करने वाले गैंग को पकड़ा है और कुछ होटलों की बुकिंग वालों को भी पकड़ा है आने वाले दिनों में ऐसा अभियान चलाया जा रहा है जल्द इनको पकड़ा जायेगा।