फिर विवादों में नैनीताल का DSA…नियमविरुद्ध बच्चे खेल रहे हैं ऑफिसियल टूर्नामेंट…संस्था के अध्यक्ष नैनीताल डीएम और फर्जीवाड़े से ही रहा है खेल..

251

DSA नैनीताल में विवाद….बच्चे खेल रहे हैं आँफिसियल टूर्नामेंट.…जिस संस्था का अध्यक्ष डीएम वहीं हो रहा है फर्जीवाड़ा…

नैनीताल – नैनीताल का डीएसए एक बार फिर विवादों में है। इस बार आँफिसियल टूर्नामेंट में कई टीमों ने फर्जी खिलाडियों को उतारा है। हांलाकि आज इसको लेकर विवाद भी हुआ जिसमें मल्लीताल व्यापार मण्डल की टीम में कई खिलाड़ी 35 साल से नीचे थे और ओपन मैच खेल चुके थे बावजूद इसके उन खिलाडियों को मैच में उतार दिया गया…हांलाकि थोड़ा देर तक आयोजन समिति इसका विरोध करती रही और सभी का आधार कार्ड़ मांगा गया लेकिन बाद में DSA ने ही सभी खिलाडियों को फर्जी तौर पर खेलने की अनुमति दे दी गई।
इससे पहले भी कई टीमों में इसी तहर से नियम का उलंघन कर खिलाड़ी खेल गये हैं..जिनकी ना तो उर्म 35 साल प्लस थी और ना ही ओपन खेलने वालों की उर्म 40 पार थी..मल्लीताल व्यापार मण्डल के खिलाड़ी अनुज..रवि मन्नू समेत कई खिलाडियों पर सवाल उठे तो इससे पहले हुए मैंच बार बेंच की टीम भी सवालों के घेरे में आ गई है। इसके साथ ही चर्चा है कि होटल एसोसिएशन ने भी कुछ खिलाडी ऐसे खिला दिये जिनकी उर्म 40 प्लस थी ही नहीं और वो ओपन टूर्नामेंट खेल चुके हैं..डीएसए में ध्वस्त हो गए नियमों पर अब खेल प्रेमी सवाल उठा रहे हैं और कह रहे हैं कि जिस संस्था की अध्यक्ष ही डीएम है उस संस्था में ऐसा कैसा फर्जीवाड़ा..आपको बतादें कि कुछ दिनों पहले एक टीम अपना इस टूर्नामेंट में रजिस्ट्रेशन के लिये आयोजन समिति से मिली तो उन्हौने लम्बा चौड़ा नियमों का पुलिंदा उस टीम को थमा दिया. और कहा कि जिसने ओपन टूर्नामेंट नहीं खेला है उसकी उर्म 40 प्लस होनी चाहिये थी और जिसने ओपन क्रिकेट प्रतियोगिता नहीं खेली उसके लिये 35 की उर्म होनी चाहिये। हांलाकि अब डीएसए क्वाटर फाइनल से आधार कार्ड़ मांगने की बात कर रहा है।
आपको बतादें कि नैनीताल का डीएसए विवादों में रहता है पिछले दिनों फुटबाल प्रतियोगिता में भी ऐसा ही देखने को मिला जिसमें भी कई खिलाड़ी फर्जी तौर पर नियमों का उलंघन कर खेल गये..साथ ही कई बार तो यहां मैच को ही रद्द करना पड़ा था।

नव वर्ष 2023 की शुभ कामनाएँ।