@. हड़ताल… ★. अनिश्चितकाल तक रहेगी टैक्सी वाहनों की हड़ताल , यात्रियों का हुआ बुरा हाल। ★. थम गये पहाड़ों की लाइफ लाइन के पहिए , बसों का संचालन प्रभावित नहीं होगा । रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

501

@. हड़ताल…

★. अनिश्चितकाल तक रहेगी टैक्सी वाहनों की हड़ताल , यात्रियों का हुआ बुरा हाल।

★. थम गये पहाड़ों की लाइफ लाइन के पहिए , बसों का संचालन प्रभावित नहीं होगा ।

रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

हल्द्वानी नैनीताल
पहाड़ की लाइफ लाइन कहे जाने वाली टैक्सी चालक हड़ताल पर चले गए हैं. टैक्सी चालकों की हड़ताल से पर्वतीय क्षेत्रों में जाने और आने वाले लोगों को फजीहतों का सामना करना पड़ रहा है. मजबूरन लोगों को बसों का सहारा लेना पड़ रहा है. टैक्सी चालकों का कहना है कि जब तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है, तब तक उनकी हड़ताल जारी रहेगी।


इससे पहले टैक्सी महासंघ ने जिलाधिकारी और आरटीओ हल्द्वानी को पत्र लिखकर फिटनेस सेंटर की शिकायत भी की थी। जिसमें टैक्सी महासंघ यूनियन के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया की फिटनेस सेंटर में कोई भी मानक तय नहीं हैं और न ही वाहन मालिक को इसके बारे में जानकारी दी जा रही है।

फिटनेस सेंटर परिवहन विभाग से अधिकृत प्रदूषण केंद्रों से जारी प्रमाण पत्रों को भी अमान्य कर रहे हैं। महासंघ ने फिटनेस सेंटर को निजी हाथों से हटाने की मांग को लेकर 27 जनवरी से टैक्सी चालक अनिश्चित कालीन हड़ताल का ऐलान किया है।
वहीं अध्यक्ष प्रतिनिधि मनोज भट्ट टैक्सी यूनियन महासंघ हल्द्वानी ने बताया कि मांग पूरी नहीं होने तक हड़ताल जारी रहेंगी।

इधर टैक्सी चालकों की हड़ताल से यात्री काफी परेशान हैं। जिन लोगों को पहाड़ जाना है उनके साथ ही दूसरे राज्यों को जाने वाले यात्री भी परेशान होकर रोडवेज और केमू बसों का इंतजार करते दिखाई दिए। इस दौरान रानीखेत जाने वाले यात्री ने कहा कि रानीखेत जाने के लिए टैक्सी में कम समय लगता है तो बस से टाइम ज्यादा लगता है। हड़ताल होने से टैक्सी से जाने वाले यात्रियों को अब बसों का सहारा लेना पड़ रहा है। आपको चलें चलें कि अपने अपने रूटों पर चलने वाली बसों का संचालन जारी रहेगा ।