उत्तराखंड पुलिस ने कोविड कार्यकाल में कमाए करोड़ों..सूचनाधिकार में खुलासा

223
  • उत्तराखंड पुलिस ने कोरोना महामारी में कानून व्यवस्था बनाये रखने के एवज में काटे करोड़ों के चालान..

उत्तराखंड पुलिस ने कोरोना महामारी की अवधि में कोविड नियमों के उल्लंघन पर चालान करके 33 करोड़ 61 लाख 14 हजार 635 रूपये का जुर्माना वसूल किया। यह खुलासा सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन एडवोकेट को पुलिस मुख्यालय द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूूचना से हुआ। नदीम उद्दीन एडवोकेट ने पुलिस मुख्यालय उत्तराखंड के लोक सूचना अधिकारी से कोविड नियमोें के उल्लंघन पर किये गये पुलिस द्वारा किये गये चालानों तथा वसूले गए जुर्माने की सूूचना मांगी थी। इसके उत्तर में पुलिस मुख्यालय की लोक सूचना अधिकारी/अपर पुलिस अधीक्षक (कार्मिक) शाहजहां जावेद खान ने सम्बन्धित विवरणों की प्रतियां उपलब्ध करायी है।

एडवोकेट नदीम की सूचना पर हुआ खुलासा..

श्री नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार उत्तराखंड पुलिस ने कोरोना महामारी प्रथम, दूसरी व तीसरी लहर (24 जनवरी 2022 तक) कोविड नियमों के उल्लंघन पर कुल 21 लाख 10 हजार 614 चालान किये तथा रू. 33 करोड़ 61 लाख 14 हजार 635 रूपये का जुर्माना (शमन शुल्क) वसूला हैै। इस अवधि में मास्क न पहनने पर किये गये चालान वालों को 19 लाख 77225 मास्क भी वितरित किये है। उपलब्ध सूचना के अनुसार प्रथम लहर में कुल 10 लाख 08 हजार 513 चालान, दूसरी लहर में 10 लाख 11 हजार 710 चालाना तथा तीसरी लहर में कुल 90391 चालान किये गये हैै। पुलिस द्वारा इन चालानों पर पहली लहर में 17 करोड़ 40 लाख 39 हजार 545, दूसरी लहर में 14 करोड़ 62 लाख 20 हजार 790 तथा तीसरी लहर में 1 करोड़ 58 लाख 54 हजार 300 रूपये जुर्माना/शमन शुल्क वसूला गया है। मास्क वितरण के आंकड़ों के अनुसार पहली लहर में 10 लाख 13 हजार 479, दूसरी लहर में 8 लाख 89 हजार 680 तथा तीसरी लहर में 74066 मास्क वितरित किये गये है। श्री नदीम को उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार उत्तराखंड भर में मास्क न पहनने पर कुल 828411 चालानों में पहली लहर में 666155, दूसरी में 1,50,026 तथा तीसरी लहर में 12230 चालान किये गये है। सोशल डिस्टेंसिंग पर कुल 10 लाख 99 हजार 580 चालानों में प्रथम लहर में 223810 दूसरी में 8,01,506 तथा तीसरी लहर में 74264 चालान किये गये हैै, जबकि लॉकडाउन नियमों के उल्लंघन पर कुल 1, 82,623 चालानों में 1,18548 पहली लहर में, 60179 दूसरी तथा 3897 चालान तीसरी लहर में किये गये हैै।