सरोवर नगरी में अब होगी “सिगवे” स्मार्ट पुलिसिंग…

137

पर्यटक स्थलों की निगरानी के लिए उत्तराखंड पुलिस के सहयोगी होंगे ये स्कूटर…”सिगवे”

नैनीताल जिले की पुलिस अब हाईटेक होने जा रही है। जिन स्थानों पर पुलिस की गश्ती टीम वाहनों से नहीं पहुँच पा रही है।या ज्यादा भीड़-भाड़ के कारण पुलिस वाहन उन क्षेत्रों में नही पहुँच रहे हैं। वहां पर अब पुलिस अमेरिकन सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर से गश्त करते हुए नजर आएगी। हल्द्वानी में आज पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अशोक कुमार ने एस.टी.एफ के सम्मान समारोह के दौरान बताया कि दो अमेरिकन स्कूटर “सिगवे” का शुभारंभ कर दिया है। इन दो स्कूटरों की कीमत 4 लाख रुपये बताई जा रही है। यह सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर हैं जिन्हें विशेषकर पर्यटक स्थलों में बखूबी इस्तेमाल किया जाएगा।

डी.जी.पी उत्तराखंड अशोक कुमार ने तकनीक को पुलिसिंग का बताया मित्र…

पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अशोक कुमार ने बताया कि वाहनों द्वारा पैदल मार्ग जैसे नैनीताल माल रोड पर पेट्रोलिंग आसान हो जाएगी। जिससे अपराधिक गतिविधियों एवं महिलाओं के साथ छेड़छाड़ जैसी घटनाओं पर भी अकुंश लगेगा।

डी.जी.पी उत्तराखंड ने आज  कहा कि वर्तमान में 100 से अधिक हाईवे पेट्रोल, सिटी पेट्रोल के लिए स्मार्ट गाड़ियां समस्त जिलों के प्रत्येक थाना क्षेत्र में संचालित किये जा रहे हैं। जल्द ई-बीट सिस्टम के तहत बीट पुलिसिंग को स्मार्ट बनाया जा रहा है।उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के ई-एफ.आई.आर योजना को जल्द शुरू किया जा रहा है। इसके तहत अब पीड़ित ऑनलाइन शिकायत कर पाएंगे। इसका अपडेट भी तत्काल मिल जाएगा। इसके अलावा उत्तराखंड एस.टी.एफ को आधुनिक साफ्टवेयर, उपकरणों के माध्यम से स्मार्ट बनाया गया है।उत्तराखंड एस.टी.एफ की तारीफ करते हुए डी.जी.पी ने कहा कि देश में वर्तमान समय में उत्तराखंड एस.टी.एफ बहुत बेहतर कार्य कर रही है।व तकनीकी से लैस है।

भीड़-भाड़ के बीच भी आसानी से पहुँचेगी पुलिस…

सरोवर नैनीताल में लगने वाले वाहनों के जाम को देखते हुए पुलिस विभाग ने अपग्रेड व एडवांस कर लिया है । डी.जी.पी.अशोक कुमार की पहल पर नैनीताल की मॉल रोड में गश्त के लिए दो स्मार्ट स्कूटर दिए गए हैं। जो जाम के बीच से निकलकर पुलिस कर्मी को घटनास्थल तक आसानी से पहुंच सकेंगे। जिससे आमजन के भीतर भीड़भाड़ के बीच भी पुलिस की उपस्थिति का अहसास बना रहेगा।