खुश खबरी..देश में जल्द उपलब्ध होगा पैट्रोल, डीज़ल का सस्ता विकल्प…

96

वाहनों के सस्ते फ़्यूल में जल्द होगी क्रांति..उपलब्ध होगा पैट्रोल, डीज़ल का विकल्प…गड़करी

कार और बाइक चलाने वालों को बहुत ही राहत देने वाली खबर है।केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री
न‍ित‍िन गडकरी ने सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, 2022-23 के लिए अनुदान की मांगों पर लोकसभा में जवाब देते हुए यह जानकारी दी कि प्रभावी स्वदेशी ईंधन को स्थानांतरित करने की जरूरत है।क्योंकि आने वाला समय इलेक्ट्रिक वाहनों का ही होगा।और इलेक्‍ट्र‍िक ईंधन भी जल्द वास्तविकता बन जाएगा।केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि अगले दो साल में इलेक्‍ट्र‍िक व्‍हीकल की कीमत भी पेट्रोल वाहनों के बराबर हो जाएगी।

इलेक्ट्रिक फ्यूल होता है किफ़ायती…

केंद्रीय मंत्री ने इलेक्ट्रिक वाहन चलाने की लागत की खूबियों को बताते हुए कहा कि इसका फायदा यह होगा यद‍ि आप आज पेट्रोल पर 100 रुपये खर्च कर रहे हैं तो इलेक्ट्रिक वाहन को चलाने में यह लागत घटकर 10 रुपये आ जाएगी.’ गौरतलब है कि कुछ द‍िन पहले ही न‍ित‍िन गडकरी ने ग्रीन हाईड्रोजन फ्यूल कार लॉन्‍च क‍िया था. दरअसल, नितिन गडकरी एलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयासरत हैं।
केंद्रीय मंत्री गड़करी ने बताया कि ग्रीन हाइड्रोजन से चलने वाली कार से चलने पर महज 1 रुपये प्रत‍ि क‍िमी से भी कम का खर्च आएगा। जबक‍ि पेट्रोल पर चलने वाली कार का खर्च 5-7 रुपये प्रत‍ि क‍िमी आता है।देश की बड़ी कंपनियां व कार निर्माता कंपनियां भी एलेक्ट्रिक वाहनों पर काम कर रही है। इस पायलट प्रोजेक्ट में टोयोटा किर्लोस्कर मोटर की FCEV टोयोटा मिराई कार शामिल है.

प्रदूषण के स्तर में कमी आएगी…

पेट्रोलियम पदार्थों के अधिक प्रयोग से लगातार बढ़ता प्रदूषण वैश्विक चिन्ताएं व ग्लोबल वार्मिंग के लिए जिम्मेदार माना जाता है।इलेक्ट्रिक वाहनों के आने से प्रदूषण के स्‍तर में निश्चित ही कमी आएगी। भारत ही नहीं पूरी दुनिया भर में प्रदूषण एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने है।जिससे मौसम चक्र ज्यादा प्रभावित हो रहा है।

रिचार्ज करने व ज्यादा आउटपुट देने वाली बैटरीयों पर हो रहा काम…

नितिन गडकरी ने कहा कि अब ‘लिथियम-आयन बैटरी की कीमत में तेजी से कमी आ रही है। हम जिंक-आयन, एल्यूमीनियम-आयन, सोडियम-आयन बैटरी को व‍िकस‍ित कर रहे हैं।अध‍िकतम दो साल में इलेक्ट्रिक स्कूटर, कार, ऑटो रिक्शा की कीमत पेट्रोल से चलने वाले स्कूटर, कार, ऑटोरिक्शा के बराबर होगी।
आपको बता दें कि नितिन गड़करी इलेक्ट्रिक वाहनों,हाइड्रोजन फ़्यूल को बढ़ावा देने की कार्ययोजनाओं पर लगातार प्रयासरत हैं।जिससे देश को पैट्रोल व डीज़ल का सस्ता विकल्प मिल सकेगा।