सरोवर नगरी में रामपुर,मुरादाबाद से आकर बाजारों में फड़ लगा रहे कारोबारियों का कोई नही है सुधलेवा..क्या किसी बड़ी घटना के बाद जागेगा प्रशासन…?

8

झील नगरी में अवैध फड़, फेरी वालों की बढ़ी आमद..कोई नही है सुधलेवा..जिला प्रशासन भी बेख़बर…

सरोवर नगरी नैनीताल के बाजारों में इन दिनों अन्य राज्यों से आये हुए फड़ कारोबारियों की बल्ले-बल्ले हो रही है।इन दिनों एक तरफ नंदाष्टमी का मेला परवान चढ़ रहा है।वहीं मेले में आये हुए कारोबारी बड़ा बाज़ार, पिछाड़ी बाजार सहित मुख्य मार्गों में अपने फड़ लगाकर कहीं भी बैठ जा रहे हैं।जिनका कोई सत्यापन भी नही किया गया है।

किसी दिन बड़ी मुसीबत को जन्म दे सकती है इन अवैध अतिक्रमणकारियों की सुरक्षा में सेंध…

आपको बता दें कि हद तो तब हो गई जब कल दोपहर को केंद्रीय रक्षा व पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट मेले का शुभारंभ करने राम सेवक सभा प्रांगण में आये हुए थे।वापसी के समय जब अजय भट्ट बड़ा बाजार मुख्य मार्ग से जा रहे थे,तो रास्तों में ही फुटपाथ पर फेरी वाले और फड़ वाले बैठ कर अपना कारोबार कर रहे थे। फड़ लगाए बैठी महिला से जब यह पूछा गया कि केंद्रीय मंत्री इसी सड़क से गुज़रने वाले है तो किसी पुलिस अधिकारी ने तुम्हे यहाँ फड़ लगाने से मना नही किया।तो महिला कहने लगी मैं तो बरसों से इसी बाज़ार में फड़ लगा रही हूँ। केंद्रीय मंत्री की सुरक्षा में तैनात इन पुलिस अधिकारियों को भी सड़कों पर बैठे इन अवैध अतिक्रमणकारियों से कोई वास्ता नही होता।

इन अवैध फडों पर न तो पुलिस प्रशासन कार्यवाही करता है।और न ही व्यापारिक संगठन…

 

नैनीताल का बड़ा बाजार क्षेत्र, व्यापार मंडल मल्लीताल के अंतर्गत आता है।लेकिन यहाँ लगने वाले अवैध फडों पर व्यापार मंडल पदाधिकारीयों को केवल वर्ष में एक बार आपत्ति होती है।जिसमें वो पुलिस प्रशासन के साथ गश्त कर इन अवैध फड़ व्यवसायियों को कुछ देर के लिए खदेड़ देते हैं।उसी दिन शाम को स्थितियाँ फिर पहले जैसी हो जाती है।

आपको बता दें कि बाहरी राज्यों से आकर झील नगरी में कारोबार कर रहे अतिक्रमणकारियों के संदर्भ में वरिष्ठ अधिवक्ता नितिन कार्की ने एक मुहिम चलाई थी।जिसका असर कुछ दिन तो चला पर फिर संबंध में नैनीताल पुलिस का जाँच अभियान भी थम गया।