कैंची मंदिर जाने के नए मार्ग एक वर्ष के भीतर बनेंगे..तथा तहसील कोश्या-कुटोली का नाम बदल कर “श्री कैंची धाम” किया जाएगा..-मुख्यमंत्री उत्तराखंड

208

कुमाऊँ आयुक्त ने सपरिवार किये कैंची धाम मंदिर के दर्शन..स्वास्थ्य शिविर तथा कड़ी पुलिस सुरक्षा व्यवस्थाओं को जाँचा…

नैनीताल जिला मुख्यालय से कैंची धाम मंदिर 17 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।आज मंदिर का 54 वां स्थापना दिवस बड़ी श्रद्धा व भक्ति के साथ मनाया जा रहा है।देर शाम को भी मंदिर परिसर में हज़ारों श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है।स्वास्थ्य विभाग द्वारा आगंतुक भक्तों के लिए एक स्वास्थ्य शिविर भी लगाया गया है।कुमाऊँ आयुक्त ने आज सपरिवार बाबा नीब करौली के दर्शन किये व परिसर में लगाये गए स्वास्थ्य शिविर तथा पुलिस सुरक्षा व्यवस्थाओं की समीक्षा वरिष्ठपुलिस अधिकारियों के साथ की। आईजी कुमाऊं नीलेश आन्नद भरणे, एसएसपी पंकज भटट के साथ ही अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित रहे।ख़बर लिखे जाने तक भी भारी संख्या में श्रद्धालुओं की क्षेत्र में उपस्थिति बनी रही।

हनुमान जी के अनन्य भक्त बाबा नीब करौरी महाराज द्वारा स्थापित कैंची धाम जाने के लिए एक वर्ष के भीतर बनेंगें नए मार्ग..तहसील का नाम भी बदल कर “श्री कैंची धाम” किया जाएगा..-पुष्कर सिंह धामी मुख्यमंत्री उत्तराखंड…

प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी प्रदेशवासियों व सम्पूर्ण देश से आने वाले श्रद्धालुओं को कैंची धाम स्थापना दिवस की शुभकामनाएं दी।साथ ही मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि तहसील कोश्या कुटोली का नाम बाबा नीब करौरी के धाम के नाम से “श्री कैंची धाम” किया जाएगा। तथा इस यात्रा मार्ग को श्रद्धालुओं के लिए सुलभ बनाने हेतु भवाली सैनिटोरियम से रातीघाट तथा भवाली सैनिटोरियम से नैनी बैण्ड के बाईपास सड़क का निर्माण तीव्रता से करते हुए अगले वर्ष श्री कैंची धाम के स्थापना दिवस से पूर्व पूर्ण कराने का प्रयास किया जायेगा।