बदलेगा इन चौराहों का नाम…कैंचीधाम और गोल्ज्यू के नाम पर होंगे नैनीताल जिले के इन दो चौराहे का नाम..देश भर के पर्यटकों को मिलेगी जानकारी और आस्था पथ पर आगे बढेंगे टूरिस्ट..

481

नैनीताल – पिछले कुछ सालों में जिस तरह से कैंची धाम को जो प्रसिद्धी मिली है उसके बाद भक्तों का तांता यहां लगा है..हांलाकि कई बार श्रृधालु रास्ता सहीं नहीं मिलने के दौरान इधर उधर भटकते है लेकिन अब देश भर के भक्तों को भवाली से सही जानकारी कैंचीधाम की मिल जायेगी। नैनीताल की भवाली पालिका ने अब भवाली के मुख्य चौराहे का नाम कैंचीधाम के नाम पर करने की योजना तैयार कर ली है..इसके तहत इस चौराहे पर सभी तहर की जानकारी कैंचीधाम की इसी चौराहे पर मिल जायेगी। पालिका ने बोर्ड़ प्रस्ताव पास कर इसको सरकार को भेजा है जल्द ही शासन से स्वीकृति मिलने के बाद फिर इस चौराहे को कैंचीधाम चौराहे के नाम से जाना जायेगा।इसके साथ ही पालिका ने यह भी निर्णय लिया है कि भीमताल रोड़ के चौराहे का नाम गोल्ज्यू चौराहा होगा.यहां से घोड़ाखाल आने जाने वाले पर्यटकों व श्रृधालुओं को इसका फायदा मिलेगा…ये निर्णय पालिका ने देश भर से आने वाले धार्मिक पर्यटकों के लिये किया है..दरअसल कैंचीधाम और घोड़ाखाल जाने वालों को सही जानकारी मिले और कहां से उनको डायवर्ट होना है इसकी जानकारी मिल सके इस पर पालिका काम कर रही है जिसके चलते दो चौराहों का नाम कैंचीधाम व गोल्ज्यू चौराहा किया जा रहा है


मानस खण्ड काँरिड़ोर में भी है ये दोनों मंदिर शामिल..

दरअसल सरकार का फोकस इस वक्त मानस खण्ड़ काँरिड़ोर पर है और नैनीताल में कैंचीधाम व घोड़ाखाल मंदिर में इसके तहत काम होना है..देश भर से पर्यटकों की उमड़ रही भीड़ को देखते हुए यहां सुविधाओं का विस्तार किया जाना है तो कैंचीधाम में मास्टर प्लान के तहत काम किया जाना है..न्याय के देवता माने जाने वाले गोल्ज्यू की महिमा जानने के लिये भी देश पर से लोग यहां आते हैं।

भवाली नगर पालिका अध्यक्ष संजय बर्मा ने बताया कि कैंची धाम चौराहे के निर्माण के लिये प्रस्ताव पास किया गया है और जल्द ही इस पर काम किया जाना है सरकार की अनुमति का इंतजार है जैसे ही आदेश प्राप्त होगा तो काम शुरु कर दिया जायेगा। संजय बर्मा ने कहा कि कैंची और घोड़ाखाल आज के दौर में बड़े तिर्थ के तौर पर विकसित हो गये हैं और रोजाना भक्त यहां पहुंचते जरुर हैं संजय बर्मा का कहना है कि इन दोनों चौराहों पर आस पास के पर्यटन स्थलों की भी जानकारी टूरिस्ट को मिलेगी।