तैयारी में फेल….सड़क खुलवाने को किया फोन तो जेसीबी ड्राइवर छुट्टी पर….1 किलोमीटर पहुंचने में आपदा प्रबंधन को लगे 4 घंटे…..दिल्ली के पर्यटकों ने कहा बेकार है नैनीताल के प्रशासन की व्यवस्थाएं..

168

नैनीताल – नैनीताल में रात से हुई पहली मूसलाधार बारिश ने प्रशासन की पोल खोल के रख दी है। नैनीताल हल्द्वानी हाईवे और नैनीताल भवाली रोड़ रात 4 बजे से ही बंद हो गया तो जेसीबी का ड्राइवर छूट्टी पर होने से सड़क 4 घंटे बंद रही… सड़क खोलने के लिये दूसरी जेसीबी को भी 1 किलोमीटर पहुंचने में 4 घंटे लग गये। इस दौरान पर्यटक परेशान रहा तो आम आदमी को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा वहीं प्रशासन की सड़क खोलने की उम्मीद खत्म होते पर्यटक पैदल ही नैनीताल और हल्द्वानी की तरफ लौट गये। कमिश्नर कुमाऊँ और डीएम के आपदा को लेकर जारी आदेश भी इस बारिश में पानी के साथ बह गये। जिला प्रशासन की लचर व्यवस्थाओं पर हर कोई सवाल उठा रहा है। 8 बजे बाद जब जेसीबी पहुंची तक छोटे वाहनों के लिये सड़क खोली जा सकी है जिसके बाद शहर में दूघ समेत अन्य आवश्यक सामान पहुंच सका है।

बच्चों के साथ पर्यटक रहे परेशान…

दिल्ली से नैनीताल घूमने आए पर्यटक भूपेन्द्र ने कहा कि रात से रोड़ बंद है सुबह 4 बजे से वो यहां पर बैठे हैं लेकिन 8 बजे तक कोई रोड़ खोलने नहीं पहुंचा बच्चों के साथ परेशान हो गये हैं..वहीं दिल्ली की एक और पर्यटक मिताली ने कहा कि रात से परेशान हैं यहां के जिला प्रशासन की पूरी लचर व्यवस्थाएं हैं ऐसे में ड़र भी लग रहा था कि पहाड़ तो नीचे नहीं आ जायेगा..भवाली डिपो के ड्राइवर ने कहा कि वो सबसे पहले 4 बजे से यहां आये हैं लेकिन सूचना के बाद भी कोई नहीं आया जिसके चलते कई लोग इस पहाड़ी को पार कर जान जोखीम में डालकर चले गये हैं।