कहीं ये छात्रों को तो नहीं बेचते थे दम…3 किलो चरस के साथ कालेज के 2 कर्मचारी गिरफ्तार….दोनों एक हो राजकीय कालेज में हैं तैनात…पुलिस खोज रही अब आपराधिक रिकार्ड…

245

.उत्तराखण्ड – पैंसे का लालच और कम समय में अधिक पैंसा कमाने की हसरत लोगों को कुछ भी करने के लिये कहीं भी धकेल रही है। एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें राजकीय पालिटेक्निक के दो कर्मचारियों को चरस के साथ गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि ये दोनों लम्बे समय से लोहाघाट में चरस तस्करी से जुड़े थे लेकिन अब पुलिस ने जाल बिछाकर इनको गिरफ्तार किया है।
राजकील पाँलिटेक्निक में तैनात इन दोनों कर्मचारियों के पास से पुलिस ने 3 किलो 100 ग्राम चरस बरामद हुई है साथ ही एक स्कूटी भी पुलिस ने सीज की है। दरअसल नशे के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत पुलिस ने आँपरेशन क्रैक डाउन में एसटीएफ लोहाघाट के साथ खूनाबोरा में स्कूटी पकड़ी जिसमें दो आरोपियों से 3 किलो से ज्यादा चरस पकडी जिस पर लोहाघाट थाने में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस कप्तान देवेन्द्र पींचा ने बताया कि दोनों आरोपी लोहाघाट के राजकीय पालिटेक्निक में तैनात हैं जिसमें एक आरोपी प्रकाश सिंह चतुर्थ श्रेणी व दूसरा संदीप कुमार संविदा कर्मचारी है एसपी ने बताया कि दोनों आरोपी ने बताया है कि ये दोनों सस्ते दामों में चरस खरिदकर खटीमा उधमसिंह नगर में उंचे दाम में बेचते थे। वहीं पुलिस अब दोनों के आपराधिक रिकाँर्ड़ खोज रही है वहीं पुलिस टीम को भी 5 हजार के ईनाम की घोषणा की है।