@. ग्रामीणों का ग़ुस्सा ★. बाघ के हमले में ‘निकिता’ की मौत: परिजनों और ग्रामीणों का वन विभाग पर फूटा गुस्सा ★. भीमताल के खुटानी चौराहे पर ग्रामीणों ने शव रखकर हाईवे किया जाम । ★. ग्रामीणों के सामने हाथ जोड़ती नजर आई पुलिस … रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

527

भीमताल –
भीमताल में मंगलवार की शाम खेत में चारा काट रही निकिता शर्मा को बाघ ने हमला का मौत के घाट उतार दिया था। युवती की मौत के बाद से ग्रामीणों और परिजनों में वन विभाग और जिला प्रशासन के लिए आक्रोश हैं। ग्रामीणों ने युवती के शव को साथ लेकर जुलूस निकाला हैं।भीमताल के अलचौना के ताड़ा गांव में मंगलवार की शाम खेत में चारा काट रही निकिता शर्मा (22) को नरभक्षी ने हमला का मौत के घाट उतार दिया था। युवती की मौत के बाद से ग्रामीणों और परिजनों में वन विभाग और जिला प्रशासन के लिए आक्रोश था। बुधवार की सुबह नाराज ग्रामीण युवती का शव को साथ लेकर सात किमी दूर खुटानी चौराहे पर लेकर पहुंचे।

ग्रामीणों ने युवती के शव के साथ वन विभाग के खिलाफ मुर्दाबाद, मुर्दाबाद के नारे लगाए।विधायक राम सिंह कैड़ा के समझाने पर भी ग्रामीण मानने को तैयार नहीं है। ग्रामीणों को मानने में पुलिस के अधिकारी लगे हुए हैं लेकिन ग्रामीण सुनने को तैयार नहीं है। ग्रामीणों का उग्र विरोध देख वन विभाग के कन्जवेटर और डीएफओ ग्रामीणों को सामने तक नहीं आए।ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि घटना के बाद नैनीताल डीएम को फोन करने के बाद भी फोन नहीं उठाया गया। ग्रामीण युवती का शव लेकर खुटानी में वन विभाग और प्रशासन के लिए धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। भीमताल विधानसभा क्षेत्र में पहली बार ग्रामीणों का ऐसा विरोध देखने को मिला है।भीमताल ब्लॉक की ग्राम पंचायत अलचौना के ताड़ा तांडा में मंगलवार की शाम 5 बजे खेत में घास काट रही लड़की को बाघ ने हमला कर मौत के घाट उतार दिया। लड़की का शव दो किमी दूर से बरामद किया गया। लड़की की मौत के बाद से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है।

बता दें कि, इससे पूर्व भी बाघ दो महिलाओं को मौत के घाट उतार चुका है। तांडा निवासी आनंदमनि भट्ट ने बताया कि मंगलवार की शाम पांच बजे निकिता शर्मा (18) पुत्री विपिन चंद्र शर्मा खेत में घास काट रही थी। उन्होंने बताया कि अचानक घात लगाए बाघ ने निकिता पर हमला कर उसे जंगल की ओर उठा ले गया। परिजनों के हल्ला मचाने के बाद बाघ शव को छोड़कर जंगल की ओर भाग गया।