भाजपा प्रवक्ता द्वारा की गई भड़काऊ बयानबाज़ी पर देश की सर्वोच्च अदालत सख्त..दिया ये आदेश…

129

भाजपा प्रवक्ता नुपुर शर्मा पर कोई कार्रवाई नहीं होने से सुप्रीम कोर्ट खफा.. इस तरह की सख्त टिप्पणी

देश की सर्वोच्च अदालत ने आज पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी किये जाने वाले प्रकरण में भाजपा प्रवक्ता नुपुर शर्मा मामले में कड़ा रुख अपनाया है।आपको बता दें कि कोर्ट ने नुपुर के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं होने पर सख्त नाराजगी ज़ाहिर की। तल्ख टिप्पणी करते हुए अदालत ने कहा कि उसके बयान से देश उबल गया है।उन्हें टेलीविजन पर आकर देश से अपने बयान के लिए सार्वजनिक माफी मांगनी चाहिए..दिल्ली पुलिस की भी उक्त मामले में कार्यवाही न किये जाने पर भी कोर्ट ने सवाल उठाए।

शीर्ष अदालत का सवाल कि नुपुर को जान का खतरा है या उनके बयान से देश खतरे में पड़ गया है…?

सर्वोच्च अदालत ने सवाल किया कि नुपुर को जान का खतरा है या उनके बयान से देश खतरे में पड़ गया है..? सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जो कुछ भी हो रहा है, हम उससे वाकिफ हैं। लेकिन नुपुर के खिलाफ अब तक कुछ नहीं हुआ है।

नुपुर शर्मा के वकील ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उनकी मुवक्किल की जान का खतरा है। इस पर जस्टिस सूर्यकांत ने कहा कि उन्हें खतरा है या वह देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन गई हैं..? उन्होंने जिस तरह से पूरे देश में भावनाओं को भड़काया है व देश में जो हो रहा है उसके लिए वह अकेली ही जिम्मेदार हैं…

क्या था ये मामला…

दरअसल नूपुर शर्मा ने एक टीवी चैनल की डीबेट में पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी की थी। इसके बाद देशभर में उनका विरोध शुरू हो गया।लोग सड़कों पर उतर आए और कई जगह हिंसा भी हुई। इस टिप्पणी की गूंज विदेश में भी सुनाई दी थी और मुस्लिम देशों ने इसकी कड़ी निंदा की थी. बाद में बीजेपी ने सख्त रुख दिखाते हुए नूपुर शर्मा को बीजेपी से निलंबित कर दिया था। उक्त हेट स्पीच मामले में देश मे अनेक जगह उनके खिलाफ एफ.आई.आर भी दर्ज की गई। पर उन पर अब तक कोई कार्यवाही नही की गई।उल्टा नूपुर शर्मा अंडर ग्राउंड हो गई थी।