टीचर ने छिपकली को खाने से बाहर निकाल कर जबरन खिलाया बच्चों को मिड डे मील..200 बच्चे हुए बीमार…

213

खाने में छिपकली मिलने के बाद भी जबरदस्ती बच्चों को खिलाया मिड डे मील..हुए 200 बच्चे बीमार…

देश के सरकारी स्कूलों में खिलाये जाने वाले मिड डे मील की गुणवत्ता पर समय-समय पर सवाल उठते रहे हैं।आज की घटना बिहार के भागलपुर के स्कूल से आयी है।जहाँ मिड डे मील खाते ही 200 बच्चे बीमार हो गए। हालाँकि एक बच्चे ने भोजन में छिपकली होने की शिकायत अध्यापक से की लेकिन अध्यापक ने उसे बैंगन की डंठल बता कर बच्चों को खाना खाने के लिए विवश किया।और तो और कुछ बच्चों द्वारा उक्त खाना न खाने की मनाही के बाद उन्हें मारा पीटा भी गया।और किसी प्रकार सभी को खाना खिला दिया गया।

टीचर चितरंजन ने छिपकली को खाने से बाहर निकाल कर जबरन खिलाया बच्चों को…

दरअसल यह मामला बिहार के नवगछिया प्रखंड के मदत्तपुर गाँव के मध्य विद्यालय का है।उक्त स्कूल की कक्षा-6 की एक छात्रा शिवानी ने बताया कि गुरुवार को जब मिड डे मील परोसा गया तभी एक छात्र आयुष की थाली में छिपकली निकल आयी।टीचर चितरंजन ने छिपकली को बाहर निकाल दिया और जबरदस्ती मार पीट कर सभी बच्चों को खाना खिला दिया। खाना खाते ही बच्चों को उल्टियाँ शुरू हो गई।करीब 200 बच्चे इस भोजन से बीमार हो गए।यह देख कर स्कूल प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए।और बचे खाने को स्कूल के पास ही फैंक दिया।

बी.ई.ओ विजय कुमार झा ने लिया कड़ा एक्शन..प्रधानाध्यापक निलंबत,रसोइया बर्खास्त तथा सभी अध्यापकों का होगा तबादला…

मामले की ख़बर होने पर जब ग्रामीणों के साथ एस.डी.ओ, एस.डी.पी.ओ व वी.डी.ओ गोपाल कृष्ण जाँच के लिए पहुंचे तो उन्होंने फैंके गए भोजन में स्वयं छिपकली बरामद की।
प्रखंड शिक्षाधिकारी विजय कुमार झा ने बताया कि जांचोपरांत दोषियों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।फिलवक्त प्रधानाध्यापक को निलंबत,रसोइए को बर्खास्त कर दिया गया है।तथा सभी अध्यापकों का तबादला अन्यत्र स्कूल में कर दिया गया है।सभी बच्चों का ईलाज चल रहा है।फ़िलहाल बच्चों की हालत ठीक बताई जा रही है।