श‌शिकला पांडे को राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरुस्कार

48

नैनीताल। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सोमवार को नर्सिंग सेवा में उत्कृष्ठ कार्य के लिये बीडी पांडे अस्पताल की नर्सिंग अधीक्षक श‌शिकला पांडे को राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरुस्कार से सम्मानित किया। शशिकला पांडे को सम्मान मिलने पर बीडी पांडे अस्पताल प्रबंधन समेत स्वास्थ्य विभाग में खुशी की ल‌हर है।
नैनीताल बीडी पांडे अस्पताल में लंबे समय से नर्स के रूप में तैनात मेट्रन शशिकला पांडे को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दिल्ली में राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाईटिंगेल अर्वाड से सम्मानित किया। मेट्रन शशिकला पांडे को यह सम्मान उनके द्वारा मरीजों के प्रति समर्पण और निस्वार्थ सेवा के लिए दिया गया। शशिकला पांडे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में बीते 16 सालों से अपनी सेवादे रही हैं। इसके साथ ही उन्होंने कोरोना काल में अपनी सेवाएं दी व कोविड संबंधित गतिविधियों में काम किया। जिसके चलते वह कोरोना योद्धा प्रमाण पत्र से भी सम्मानित हो चुकी हैं। शशिकला पांडे अपने हँसमुख व मजाकिया अंदाज के लिए अस्पताल में जानी जाती हैं। पूरे अस्पताल के सफाई कर्मचारी, चतुर्थ श्रेणी कर्मी, स्टाफ नर्स की ड्यूटी लगाने की जिम्मेदारी इनके ऊपर ही है। घर में 22 वर्षीय दिव्यांग बेटी व पैरालाइज्ड पति की देखभाल के साथ साथ यह अस्पताल की जिम्मेदारी भी बखूबी निभाती हैं। शशिकला पांडे का कहना है कि उनको अस्पताल प्रबंधन का पूरा सहयोग मिलता है। जिसके चलते वह अपनी ड्यूटी सही से कर पाती हैं। उनको अवार्ड मिलने पर अस्पताल के पीएमएस डॉ. एलएमएस रावत ने कहा कि अस्पताल की मेट्रन को यह सम्मान मिलने से अस्पताल का गौरव बढ़ा है। इधर अस्पताल के डॉ. वीके पुनेरा, वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. एमएस दुग्ताल, डॉ. अनिरूद्ध् गंगोला, डॉ. प्रियांशु श्रीवास्तव, डॉ. हाशिम अंसारी व अन्य स्टाफ ने खुशी जताई है।

15 जून 2022 को राज्यपाल ने मेट्रन के कार्यों को सराहा था
10 हजार एक रुपया दिया था नकद इनाम
नैनीताल। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेवानिवृत्त) ने मेट्रन के परिवार की स्थिति, कार्यों व लगन से प्रभावित होकर उनको 10 हजार एक रुपया नकद इनाम दिया था। साथ ही उनके उज्वल भविष्य की कामना की।
बतादें कि बीते 15 जून को राज्यपाल ने बीडी पांडे अस्पताल का निरीक्षण किया था। उस दौरान शशिकला पांडे ने राज्यपाल को अस्पताल का निरीक्षण कराया था। साथ ही अस्पताल के कार्यों की जानकारी दी थी। इस दौरान अन्य स्टाफ द्वारा राज्यपाल को उनकी पारिवारिक स्थिति व उनके सराहनीय कार्यों के बारे बताया गया। साथ ही बताया कि बताया कि उनका चयन फ्लोरेंस नाईट एंगल पुरष्कार के लिए हुआ है। राज्यपाल ने उनकी मेहनत व लगन से प्रभावित होकर उनको व उनकी बेटी के लिए 10 हजार रूपये का पुरष्कार दिया था।

1999 में नर्स बनकर अल्मोड़ा बेस अस्पताल में चिकित्सा के क्षेत्र में रखा था कदम
नैनीताल। शशि कला पांडे की प्रारंभिक शिक्षा नैनीताल में ही हुई। उन्होंने नर्सिंग का प्रशिक्षण गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज कानपुर में लिया ।
पहली बार 1999 में अल्मोड़ा गोवर्धन तिवारी राजकीय बेस चिकित्सालय में उन्होंने नर्स का पदभार ग्रहण किया। इसके बाद कई जगह स्थानान्तरण होने के बाद 2018 से सहायक नर्सिंग अधीक्षक के पद में नैनीताल बीडी पांडे
चिकित्सालय में कार्यरत हैं। वह अपनी इस उपलब्धि सारा श्रेय वह अपने माता-पिता ,गुरु व विभाग के अधिकारियों व सहभागियों को देती हैं। जिन्होंने समय समय पर उनका मार्गदर्शन कर साथ दिया।

शशिकला ने अस्पताल हितों में किये हैं कार्य- सीएमओ
नैनीताल।जिले की सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी ने कहा कि शशिकला पांडे ने हमेशा से अस्पताल हितों कार्य किया है। शुरु से ही पारिवारिक परिस्थतियों से जूझते हुए भी उन्होंने काम को प्राथमिकता दी है। वह इस अवार्ड की हकदार थीं। उनको यह सम्मान मिलने से नैनीताल जिले को सम्मान मिला है।