नेपाली कर रहे हैं भारत की तरफ पत्थरबाजी..पहले भी नेपाल ने कालापानी को लेकर किया था विवाद..भारत के इन कामों के चलते भारत की तरफ फैंक रहे हैं नेपाली पत्थर

241

नेपाल से पथराव

रिपोर्ट -(चन्दन सिंह बिष्ट) “स्टार खबर”

धारचूला – भारत चीन नेपाल सीमा में एक बार फिर नेपाल के द्वारा कूटनीति हथकड़ा अपनाया जा रहा , कुछ दिन पूर्व ही नेपाल में चुनावी रैली के दौरान नेपाल के पूर्व प्रधान मंत्री केपी शर्मा के विवादित बयान लिपुलेख ,लिपियाधुरा , कालापानी को अपने नक्शे में लेने की बात कहने के बाद नेपाली नागरिकों के द्वारा नदी पार से भारतीय क्षेत्र में पत्थर बाजी की गई थी , नेपाल अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है ,


अब नेपाल के द्वारा भारतीय क्षेत्र में तटबंध निर्माण कार्य पर आपत्ति जता रहा है, जिसके बाद नेपाल से किया जा रहा है , धारचूला में भारत नेपाल सीमा पर, इन दिनों काली नदी के तट पर बाढ़ से सुरक्षा के लिए सिंचाई विभाग के द्वारा तटबंध का निर्माण किया जा रहा है। जिसको लेकर नेपाल आपत्ति जता रहा है। नेपाल के नागरिकों द्वारा सीमा पार से पत्थरबाजी की जा रही है, जिससे निर्माण कार्य प्रभावित हो रहा है, साथ ही दोनों देशों के बीच आपसी संबंधों में भी खट्टास पैदा हो रही है।नेपाल दार्चुला के विधायक गेलबु बोहरा का कहना है कि भारतीय क्षेत्र में चल रहे कार्य से नेपाल के तटबंधों को खतरा हो रहा है। भारतीय ठेकेदारो के द्वारा नदी तट पर मनमानी से कार्य किया जा रहा है, जिसका हमारे नेपाली नागरिकों के द्वारा विरोध किया जा रहा है।
धारचूला के उप जिलाधिकारी दिवेश शाशनी ने नेपाल जाकर विधायक और नेपाली प्रशासकों से वार्ता की। एसडीएम ने बताया कि सिंचाई विभाग को सामंजस्य बनाकर कार्य करवाने के आदेश दिए गए हैं। ताकि नेपाल की ओर से कोई आपत्ति न हो ,जिससे तटबंध निर्माण कार्य में कोई बाधा न आए ।

गौरतलब है कि नेपाली जनता पहले भी भारत में हो रहे तटबध निर्माण कार्य का विरोध करती रही है। समय समय पर विरोध और सीमा पार से होने वाली पत्थरबाजी सिंचाई विभाग की मुश्किल बड़ा रही है। अब दोपक्षीय वार्ता के बाद कार्य में कितनी तेजी आएगी ये देखने वाली बात होगी।