ये नशा पहाड़ को बर्बाद कर देगा….चरस गांजा स्मैक की पहाड़ में सप्लाई….एक साल में कार्रवाई तो हुई लेकिन बड़े तस्कर पकड़ से दूर…नशे के खिलाफ दूध पियो अभियान..

387

नैनीताल – नैनीताल में नशे का प्रकोप इस कदर है कि इसका कारोबार खूब फलफूल रहा है, पिछले एक साल में चरस गांजा स्मैक हैरोइन के साथ दवा भी नशे में खूब इस्तेमाल नैनीताल जिले में हुआ है। पुलिस आंकड़ों में ही नाराज डालें तो सिर्फ नैनीताल जिले में 1 जनवरी से 5 दिसंबर तक 27 तस्करों से 21 किलो 952 ग्राम चरस बरामद की गई है। वहीं 1 अभियुक्त से 541 ग्राम हैरोइन के साथ4 किलो 774 ग्राम स्मैक के साथ 134 तस्करों की गिरफ्तारी हुई है। इसके साथ ही गांजे का कारोबार भी खूब हो रहा है पुलिस ने नैनीताल में 128 किलो गंजे के साथ13 आरोपियों को गिरफ्तार किया है साथ ही 3365 नशीले इंजेक्शन की खेप पकड़ी पकड़ी गई है जिसमें 39 आरोपी गिरफ्तार हुए हैं।
नशे की खेप पकड़ने के बाद एसएसपी ने सभी थाना चौकियों को निर्देश दिए हैं कि नशे पर लगाम लगाएं।

नशा नहीं दूध पियो अभियान….

हालांकि नशे के खिलाफ लड़ने के लिए समाजसेवी लोग भी सामने आए हैं नैनीताल में पूरन मेहरा के नेतृत्व में जनजागरुकता अभियान चलाया गया जिसमें समाज में अलग अलग अलग अलग क्षेत्रों में काम कर रहे लोग शामिल हुए। तल्लीताल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान युवाओं को नशे के बजाए दूध पीने का आवाहन किया गया और कुल्लड़ में दूध दिया गया। इस कार्यक्रम का मकसद था कि युवा नशे के बजाए दूध पिये तंदरुस्त होकर बीमारी को दूर भगाएं। हालांकि इस पहल का युवाओं ने भी खूब सराहना की युवाओं ने कहा कि ये बेहतरीन पहल है और ऐसी कोशिश होती रहनी चाहिए ताकि युवा नशे के बजाए दूध पियें।

नव वर्ष 2023 की शुभ कामनाएँ।