उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विकास कार्यों में हो रही लेट लतीफी पर गहरी नाराजगी जताई..पी.एम मोदी ने की थी 2021 में हल्द्वानी को चमकाने की उक्त घोषणा…

117

मुख्यमंत्री धामी द्वारा की गई विकास कार्यों की समीक्षा बैठक..जल्द डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट सबमिट करने के दिये आदेश..2200 करोड़ से होने हैं विकास कार्य…

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज हल्द्वानी में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की।आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा विकास कार्यों के लिए की गयी 2200 करोड़ रुपए की घोषणा के चलते उक्त समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया था।मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों से हीलाहवाली छोड़ कर जल्द डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट फाइनल करने की बात सख्ती से की।उक्त बैठक में नगर निगम के मेयर डॉ. जोगिंदर पाल सिंह रौतेला समेत सभी अधिकारी और कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विकास कार्यों में हो रही लेट लतीफी पर गहरी नाराजगी जताई…

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विकास कार्यों में हो रही लेट लतीफी पर गहरी नाराजगी जताई।मुख्यमंत्री धामी ने  कि हल्द्वानी में नगर निगम क्षेत्र में प्रधानमंत्री द्वारा 30 दिसम्बर, 2021 को समेकित शहरी अवसंरचना विकास एडीबी द्वारा वित्तपोषित 2200 करोड़ की घोषणाओं के क्रियान्वयन एवं प्रगति की समीक्षा बैठक लेते हुए कहा कि मामले में अनावश्यक लेट लतीफी बर्दाश्त नही की जाएगी। बैठक लेते हुए सी.एम ने नगर के विकास हेतु डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर रही कार्यदायी संस्था यू.यू.एस.डी.ए उत्तराखण्ड अर्बन सैक्टर विकास के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए तय समय सीमा के भीतर डी.पी.आर फाइनल करने के निर्देश दिए हैं।साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार लगातार भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाकर विकास कार्यो में तेजी ला रही है। जिससे आमजन को सुविधा मिल सके।

पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा प्रदेश विरोधी बयानबाज़ी के बाद दिल्ली तलब मामले को बताया रूटीन दौरा…

उत्तराखंड के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा सरकार के ख़िलाफ़ विकास विरोधी व बढ़ती कमीशन बाज़ी जैसी बयानबाजी करने व उन्हें पार्टी हाई कमान द्वारा दिल्ली तलब किये जाने के बयान पर पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों का दिल्ली दौरा एक रूटीन प्रक्रिया है…