हद है….. सीजन निकला अब आयी याद… पुलिस की व्यवस्थाएं फेल तो मैदान में उतरे कमिश्नर दीपक रावत… डीएम नैनीताल के पर्यटन की व्यवस्था में मिली खामियां ही खामियां…शटल सेवा वालों की दादागिरी जारी… 2 दिन का दिया अल्टीमेटम अपनी कमी छिपाते रहे पुलिस के डीआईजी .

142

नैनीताल – नैनीताल पुलिस की यातायात व्यवस्था सीजन में चौपट होने के बाद अब कुमाऊँ कमिश्नर मैदान में उतरे हैं। नैनीताल में कमिश्नर दीपक रावत ने नारायणनगर के साथ रुसी बाइपास का निरिक्षण किया इस दौरान खामियां भी खामियां मिली है। नारायण नगर में पार्किन निर्माण में देरी पर कमिश्नर ने फटकार लगयी है साथ ही कमिश्नर दीपक रावत ने पार्किंग निर्माण कर रहे केएमवीएन को आदेश दिया है कि 2 दिन के भीतर पार्किंग के तौर पर मैदान को तैयार करें और गाड़ी पार्क कर नैनीताल के दबाव को कम करें,,इसके साथ ही रुसी बाइपास में भी पर्यटकों के लिये शौचालय का अभाव मिला है और भी दिक्कतें देखने को मिली हैं।,, जिस पर कमिश्नर ने नाराजगी व्यक्त करते हुए जिला पंचायत को निर्देश दिया है कि तत्काल मोबाइल टायलेट लगाएं और बाहर से आने वालों को सुविधा दें…वहीं शटल सेवा की अव्यवस्था पर भी कमिश्नर ने नाराजगी व्यक्त करते हुए इसको दुरस्त करने का निर्देश दिया है पर्यटकों ने शटलसेवा में लगे वाहनों और उनकी चल रही दादागिरी पर नाराजगी व्यक्त की कहा कि घंटों तक गाड़ी नहीं आती अगर आती भी है तो मनमानी चलते हैं कुछ पर्यटक तो रूसी बाईपास से पैदल ही नैनीताल आते नजर आए। आपको बतादें कि तराई में गर्मी का प्रकोप बढने के साथ नैनीताल में भीड़ बढी है जिसके बाद नैनीताल में यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई है। हालांकि इस निरीक्षण के दौरान डीआईजी अपनी कमियों को स्वीकार करने के बजाए छिपाते रहे शहर में जाम के बाद भी डीआईजी ने कहा कि उन्हौने बेहतर व्यवस्था की है और जाम नहीं लगने दिया जा रहा है। भीड़ ज्यादा पहाड़ आ रही है तो उंसके लिए अलग व्यवस्था की जा रही है। डीआईजी ने कहा कि 10 हजार गाड़ी आ रही हैं और शहर से बाहर गाड़ियां लगयी जा रही है,जाम से निजाम दिलाने का डीआईजी ने भरोषा दिया है। वहीं कमिश्नर कुमाऊं ने कहा कि नारायणनगर 150 गाड़ियां आ सकती हैं जिसको जल्द तैयार कर पर्यटकों को सुविधा देने के निर्देश दिए हैं।