अब “वर्क फ्रॉम होम” करने वालों पर होगी सख्ती..धीरे-धीरे कम्पनीयां अपने कर्मचारियों पर कस रही नकेल…

280

मूनलाइटिंग के बीच टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज का बड़ा फैसला..अब “वर्क फ्रॉम होम” करने वालों पर होगी सख्ती..सप्ताह में तीन दिन ऑफिस आ कर करना होगा काम…

आई.टी सेक्टर में मूनलाइटिंग पर छिड़ी बहस के बीच टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने वर्क फ्रॉम होम के आदी हो चुके कर्मचारियों को सख्त हिदायत दी है।टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने एक इंटरनल मेल में कहा है कि कोरोना के बाद अब स्थिति सामान्य हो चुकी है। और अब हफ्ते में 3 दिन ऑफिस आना अनिवार्य होगा। इसका पालन नहीं करने को गंभीरता से लिया जाएगा और ऐसे कर्मचारियों के विरुद्ध कठोर कदम उठाए जा सकते हैं।

कर्मचारियों को सप्ताह में कम से कम तीन दिन ऑफिस में काम करने के लिए भेजे ई-मेल..टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज…

आपको बता दें कि आईटी कंपनियां कर्मचारियों की मूनलाइटिंग यानी एक ही समय में दूसरे तरीके से पैसे कमाने के तरीके से खफा हैं। इस वजह से विप्रो ने 300 कर्मचारियों को नौकरी से भी निकाल दिया है। और अब टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के कर्मचारियों पर भी ऑफिस आ कर काम करने की तलवार लटक गई है।यहाँ यह बताना भी आवश्यक है कि “वर्क फ्रॉम होम” के चलते कम्पनियों के कर्मचारी अन्य कंपनियों में भी काम करके अपनी अतिरिक्त आय जोड़ रहे हैं।इसीलिए पहले विप्रो ने व अब टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने भी सप्ताह में तीन दिन अपने कर्मचारियों की उपस्थिति जरूरी कर दी है।कर्मचारियों को भेजे ई-मेल के मुताबिक रोस्टर निर्धारित किया जाएगा और इसी के अनुसार कर्मचारियों को आफिस आना होगा। इंफोसिस ने भी संदर्भ में अपने कर्मचारियों को चेतावनी दे दी है।

विप्रो की अपने कर्मचारियों की छटनी के बाद अन्य कंपनियों के भी खुले विकल्प…

यहाँ यह भी बताना अतिआवश्यक हो जाता है कि पिछले दिनों विप्रो के अध्यक्ष ऋषद प्रेमजी ने देश में सबसे पहले यह स्पष्ट कर दिया था कि कंपनी में ऐसे कर्मचारियों के लिए कोई जगह नहीं है जो प्रतिद्वंदियों के लिए काम करतें है।इसे उन्होंने चांदनी या धोखाधड़ी का नाम दिया।दरअसल मूनलाइटिंग का अर्थ है एक समय में एक से अधिक काम करना और दूर से काम करना जैसे “वर्क फ्रॉम होम” जो कोविड के दिनों के दौरान एक आदर्श बन गया था और अभी भी कई कार्यस्थलों पर प्रचलित है।विप्रो की एक दिन में की गई सर्वाधिक छटनी के बाद अन्य कंपनियों के लिए भी छटनी के दरवाजे खुल गए हैं।

नव वर्ष 2023 की शुभ कामनाएँ।