नारायण नगर में कूड़ा प्लांट को लेकर ये आदेश…राज्य अनुसूचित आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने अधिकारियों को कहा नहीं सहेंगे उत्पीड़न… ग्रामीणों ने ये कहा तो पालिका अध्यक्ष का ये आया जवाब…

393

नैनीताल – नैनीताल के एसटी बाहुल्य गांव नारायण नगर में जबरन कूड़ा निस्तारण प्लांट लगाने पर राज्य अनुसूचित आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने संज्ञान लिया है। नैनीताल में आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने पालिका और प्रशासन को निर्देश दिया है कि जब तक गांव की सहमति ना बन जाए तक तक इस स्थान पर प्लांट ना लगाएं..वहीं पालिका को भी कहा है कि वो एक और बोर्ड़ बैठक करें उसमें राय लें साथ ही गांव जाकर गांव के लोगों की सहमति बनाएं ताकि लोगों को दिक्कतों का सामना ना करना पड़े। इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि उनकी सहमति के बिना ही गांव में कूड़ा निस्तारण प्लांट लगाया जा रहा है जब्कि गांव के पास ग्रीन पार्किंग इस वजह से तैयार हो रही है क्योकि वहां पर जमीन खराब है।

नैनीताल पालिका सभागार में बैठक के दौरान उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने कहा कि हो सकता है पालिका और प्रशासन की पहल अच्छी हो लेकिन इसके लिये गांव के लोगों की सहमति बनानी जरुरी होगी अगर गांव का विरोध है तो उसके लिये पहले गांव के लोगों को तैयार करना होगा तभी आगे की कार्रवाई अमल में लाई जाए। बैठक के दौरान ग्रामीणों ने भविष्य के आशंकाओं पर सवाल उठाते हुए कहा कि ये सिर्फ एक डम्पिंग जोन तैयार किया जा रहा है जिससे गांव आबादी में खतरा होगा। वहीं पूर्व प्रधान मनमोहन कनवाल ने कहा कि पहले भी ग्रामीणों के साथ प्रशासन ने छलावा किया और कहा था कि घोड़ा स्टेंड़ की गंदगी निचे नहीं आयेगी आज पूरे गांव और सडियाताल में बरसातों में गंदगी आ रही है घोड़ों की लीद के चलते गांव में बिमारियां फैल रही हैं क्योकि 10 गांव को यहां के स्रोत से पानी मिलता है। वहीं गांव के लोगों ने कहा कि उनका विरोध जारी रहेगा..हांलाकि पीसी गोरखा ने लोगों से अपील की है कि अगर उनको पालिका ने कोई भरोषा दिया है तो उस पर काम करें और जब तक उनकी आपत्तियां नहीं निस्तारित होंगी उस ये प्लांट निर्माण नहीं होगा तब तक वो धरना बंद कर सकते हैं।

बैठक में शामिल नैनीताल पालिका के अध्यक्ष सचिन नेगी ने स्थानीय सभासद से सवालों का जवाब देते हुए कहा कि बैठक में उनकी सहमति के बाद ही निर्णय लिया गया था लेकिन मैं खुद मौके पर जाकर गांव के लोगों को लिखित तौर पर देखर आया हूं की ये तब तक नहीं बनेगा जब तक उनकी बात नहीं सूनी जायेगी। पालिका अध्यक्ष ने कहा कि उनकी सहमति के बिना फिलहाल प्लांट नहीं बनेगा पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी ने कहा कि उनकी टीम गांव जाकर इसके लिये गांव के लोगों से मुलाकात करेंगे और प्लांट के बारे में बतायेगी कूड़ा निस्तारण के बारे में जानकारी देंगे और वीडियों के माध्यम से कैसे प्लांट काम करेगा इसकी जानकारी भी गांव के लोगों के साथ साझा होगी। आपको बतादें कि नैनीताल के नारायण नगर में पिछले कई दिनों से ग्रामीण कूड़ा निस्तारण प्लांट का विरोध कर रहे हैं और ग्रामीणों का कहना है कि नारायण नगर में इस प्लांट को ना बनाया जाए क्योंकि इससे उनके जल स्रोतों के साथ बिमारियों को इलाके में खतरा है। इसको लेकर गांव के लोग धरने पर बैठे हैं।